पटना पहुंचे केन्द्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के समर्थकों द्वारा ताकत दिखाने की कोशिश

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार में जनता दल-यूनाइटेड की सियासत गरमा गई है. राजीव सिंह उर्फ ​​ललन सिंह 6 अगस्त को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद जब पहली बार पटना पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत किया गया था.

उसके बाद सोमवार को केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार पटना पहुंचे आरसीपी सिंह का स्वागत उनके समर्थकों द्वारा जोरदार ढंग से किया गया. आरसीपी के समर्थकों द्वारा अपने नेता का स्वागत करने के साथ-साथ अपनी ताकत दिखाने की कोशिश भी की गई.

सोमवार को कड़ाके की धूप एवं उमस भरी गर्मी के बावजूद बड़ी संख्या में आरसीपी के समर्थक कई घंटे से इंतजार कर रहे थे. उन्होंने ढोल-नगाड़े की थाप पर अपने नेता आरसीपी सिंह का स्वागत किया. उत्साहित समर्थकों ने आरसीपी को फूल-मालाओं से लाद कर जिंदाबाद के नारे लगाए.

खुली पिकअप वैन में कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों का हाथ हिलाकर अभिवादन करते हुए आरसीपी सिंह का काफिला धीरे-धीरे सरकता हुआ आगे बढ़ा. आरसीपी का काफिला हवाईअड्डा से शेखपुरा मोड़ होते हुए बेली रोड के चिड़ियाखाना, हड़ताली मोड़ से आगे बढ़ा. रास्ते में कई जगहों पर कार्यकर्ताओं द्वारा काफिले को रोककर आरसीपी को माला पहनाया गया.

बीच में ही आरसीपी की तबीयत हुई खराब

इस बीच भीषण गर्मी के कारण पटना उच्च न्यायालय के पास आरसीपी की तबीयत थोड़ी महसूस होने पर उन्हें तुरंत पार्टी मुख्यालय ले जाया गया.

पटना पहुँचने पर पार्टी में गुटबाजी को लेकर जब उनसे सवाल पूछा गया तो आरसीपी सिंह ने कहा कि ‘जेडीयू में सब ठीक है. किसी प्रकार का कोई मतभेद नहीं है. उन्होंने कहा, ललन बाबू हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और सभी लोग उनका सम्मान करते हैं. लेकिन फिर भी एक सवाल बाकी रह गया तो उपेंद्र कुशवाहा को आरसीपी सिंह के करीबी अभय कुशवाहा पार्टी और पोस्टर से दूर क्यों रखना चाहते हैं?

Also Read | जातीय जनगणना: नीतीश के पत्र के जवाब में पीएम मोदी ने मिलने का समय नहीं बताया

इससे पहले, एयरपोर्ट से लेकर पटना के प्रमुख चौराहों और चौकों पर पोस्टर-बैनर और होर्डिंग भर दिए गए थे. कार्यकर्ताओं की तैयारी देखकर लगता था कि वे अपने नेता का स्वागत करने के साथ-साथ अपनी ताकत दिखाने की कोशिश भी कर रहे हैं.

कार्यकर्ताओं ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ​​ललन सिंह के लिए आरसीपी सिंह के स्वागत को भव्य बनाने की कोशिश की.

बता दें, पिछले माह 7 जुलाई को हुई केंद्रीय मंत्रिपरिषद के विस्तार में आरसीपी सिंह को केंद्रीय इस्पात मंत्री बनाया गया है. इससे पहले 2019 में भी उन्हें जदयू कोटे से मंत्री बनाने की बात हुई थी, लेकिन जदयू को सिर्फ एक मंत्री पद मिलने के विरोध में पार्टी नेतृत्व ने इसे स्वीकार नहीं किया.

अपने पटना आने पर आरसीपी ने ट्वीट कर कहा, “आज जिस उत्साह और उमंग के साथ आप सभी ने मेरा स्वागत किया, वो मैं कभी नहीं भुला पाऊंगा. मैं स्पष्ट देख पा रहा था कि आप सबकी खुशी ऐसी है जैसे मेरे साथ-साथ आप सभी मंत्री बनकर आए हों. यही स्नेह और साथ मेरी पूंजी और जदयू की ताकत है”.