UDA सिर्फ मुद्दा आधारित साफ़-सुथरी राजनीति के लिए बना है – अरुण कुमार

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | व्यवस्था परिवर्तन हमारा लक्ष्य है और हम इसकी लड़ाई लड़ रहे हैं – यह बात बुधवार को यूडीए (United Democratic Alliance) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद अरुण कुमार ने कही. वे UDA के पटना स्थित लव कुश टावर केंद्रीय कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे.

अरुण कुमार ने कहा कि इन दिनों UDA मज़बूत हो रहा है और बिहार में एक मज़बूत विकल्प बनकर उभरा है. उन्होंने कहा कि यूनाइटेड डेमोक्रैटिक अलाइअन्स (United Democratic Alliance) का गठन भारत के पूर्व वित्त व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा के नेतृत्व में सिर्फ राजनीति के लिए नहीं हुआ है. बल्कि यह मुद्दा आधारित साफ़-सुथरी राजनीति के लिए बना हैं.

उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार के सृजन घोटाला, Estimate घोटाला, Quarantine घोटाला, बाढ़ राहत घोटाला, लचर क़ानून व्यवस्था, शराब बंदी में शराब की होम डेलिवरी जैसे अनेकों मुद्दों पर जनता में आक्रोश है. ये जन विरोधी नीतीश सरकार नैतिकता का खोखला आवरण ओढ़े हुए सरकारी ख़ज़ाने की लूट में शामिल है.

अरुण कुमार ने किसान विरोधी क़ानून को आज़ादी के बाद से अब तक का सबसे बड़ा जन विरोधी काला बिल बताया. उन्होंने कहा कि आज किसानों की दुर्दशा किसी से छुपी नहीं है, मगर यह बिल तो उन्हें ज़हर पीने को मजबूर कर देगा. इस बिल से गाँव, खेत, खलिहान तबाह हो जाएँगे. उन्होंने भाजपा, जदयू में शामिल किसान नेताओं, उनके बेटों से आग्रह किया कि वे सब आगे आकर इस क़ानून का विरोध करे.

वहीं, नागभूषण पटनायक ने कहा था कि जब आदमी विकल्प देने में विफल रहता है, तब प्रकृति खुद विकल्प देती है. आज UDA ही विकल्प है. इसी उद्देश्य से हम सभी काम भी कर रहे हैं. वक्त की माँग है कि जो भी गाँव, खेत, खलिहान, मज़दूर से संवेदना रखते हैं वो UDA में शामिल हो. इस नए विकल्प को मज़बूत बनाएँ एवं बेहतर बिहार बनाने में यशवंत सिन्हा का सहयोग करें.

UDA कोऑर्डिनेटर राजीव भृगुकुमार ने बेरोज़गारी को चुनाव का अहम मुद्दा बताते हुए नौजवानों से अपील की कि आने वाले चुनाव में युवा डबल इंजन सरकार को हटा कर बेहतर बिहार बनाने की दिशा में यशवंत सिन्हा का हाथ मज़बूत करेगी. प्रेस वार्ता में अशफ़ाक रहमान, डॉ सत्यानंद शर्मा, अशोक कुमार, नौशाद खान उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.