किसान आंदोलन की आड़ में टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग : रविशंकर प्रसाद

बख्तियारपुर (अखिलेश कु सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट)| केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कृषि कानूनों को लेकर विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों ने खुद इन सुधारों की आवश्यकता को पहचाना था. उन्होंने कहा कि केंद्र और भाजपा इस बात पर लोगों को जागरूक करेंगे कि किसानों के लिए कृषि कानून कैसे फायदेमंद होंगे. रविवार को रविशंकर प्रसाद बख्तियारपुर में कृषि कानून के पक्ष में बिहार भाजपा की ओर से आयोजित किसान चौपाल को संबोधित कर रहे थे.

“वे प्रमुख लोग, जो आज कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं, वे सिर्फ कानूनों का विरोध करने के लिए कर रहे हैं. उन्होंने स्वयं पहले इन सुधारों की आवश्यकता को पहचाना था. हम लोगों को जागरूक करेंगे कि किसानों के लिए कृषि कानून कैसे फायदेमंद होंगे, ”उन्होंने कहा.

उन्होंने कहा कि चुनाव में करारी हार से हताश निराश विपक्ष ने कृषि कानून के संबंध में किसानों के बीच भ्रम फैला रहे हैं. वे लोग अपनी रोटी सेंकने के फिराक में हैं. वे सभी लोग महज अपनी राजनीतिक स्वार्थ की पूर्ति के साथ ही दलालों और बिचौलियों के फायदे के लिए भोले-भाले किसानों को बहकाने का काम कर रहे हैं, जबकि नया कृषि कानून शत प्रतिशत किसानों के हित में है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आज अगर किसानों के आंदोलन की आड़ में भारत को तोड़ने वाले टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग पीछे होकर आंदोलन के कंधे से गोली चलाएंगे तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस पर हम कोई समझौता नहीं करेंगे.

आपने इस खबर को पढ़ा क्या – खग्रास सूर्य ग्रहण आज, आपकी राशि को यह कैसे करेगा प्रभावित

उक्त बातें रविशंकर प्रसाद ने आयोजित ‘किसान चौपाल’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा. वहीं इस कार्यक्रम में शिरकत करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा कि नए किसी कानून से किसान पूरी तरह से अवगत नहीं है, जबकि ये कानून किसानों के लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध होने वाला है. उन्होंने कार्यकर्ताओं से गांव गांव जाकर नए कानून के संबंध में किसानों की जानकारी देने की अपील की. उन्होंने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) जारी रहेगा. मंडियों की व्यवस्था भी जारी रहेगी. कोई भी किसानों को जमीन के मालिकाना हक़ से बेदखल नहीं कर सकेगा.

इस कार्यक्रम के पूर्व विधायक रणविजय सिंह उर्फ लल्लू मुखिया, डॉ सिया राम सिंह, डॉ सुरेश द्विवेदी, अशोक सिंह मुखिया, रवि रंजन, पप्पू सिंह, राजू कुमार मुन्ना, चंद्रप्रकाश सिंह, पुरुषोत्तम सिंह सहित कई लोगों ने संबोधित किया.

बताते चलें कि नये कृषि बिल को लेकर पूरे देश में लगातार विरोध और प्रदर्शन का दौर बढ़ता ही जा रहा है. इसे देखते हुए अब बीजेपी (BJP) ने डैमेज कंट्रोल पर काम शुरू कर दिया है. पार्टी ने रविवार से कृषि बिल (Farm Bill) के समर्थन में हर जिले में किसान सम्मेलन/चौपाल कर रही है जिसके ज़रिये किसानों को कृषि बिल के फ़ायदे बताएगी. साथ ही विपक्ष के द्वारा जो भ्रम फैलाया जा रहा है, उसकी जानकारी भी बीजेपी के नेता किसानों को देगी.