नीतीश कुमार का असली चेहरा बर्बर, अमानवीय और तानाशाह – तेजस्वी

File Photo

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर करारा हमला करते हुए कहा है कि एक तरफ़ नीतीश कुमार “प्रवासी” शब्द की नैतिकता पर उपदेश देते हैं और दूसरी तरफ़ अपना असली रंग दिखाते हुए श्रमवीरों को लाठी से पिटवाते है, पैदल चलने पर मजबूर करते है. मुसीबत की घड़ी में उन्होंने राज्यवासियों को छोड़ दिया. उन्हें बिहार नहीं घुसने और आने पर वापस भेजने की धमकी दी.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बिहार आने पर माटी पुत्र श्रमवीरों का लाठी-डंडों से स्वागत कराया जाता है जबकि दूसरे प्रदेश अपने श्रमवीरों का फूलों से स्वागत कर रहे है. सरकारी ख़ामियाँ बताने पर अधिकारियों द्वारा श्रमिकों पर अत्याचार किया जाता है. उन्हें इलाज और उपचार से वंचित किया जाता है. उनके अधिकारों के नाम पर करोड़ों की निकासी कर भ्रष्टाचार की गंगा बहाई जा रही है. आज भी कटिहार रेलवे स्टेशन पर श्रमिकों को पीटा गया है.

तेजस्वी यादव ने बिहार में रोज़गार को लेकर कहा जिन्होंने 15 वर्षों में एक सुई का कारख़ाना नहीं लगवाया वो चुनाव देख अब कारख़ाने और रोज़गार की लफ़्फ़ाज़ी कर रहे है. मुख्यमंत्री को बिहार के श्रमवीरों से अविलंब माफ़ी माँगनी चाहिए.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्विटर के माध्यम से ट्वीट कर कहा है कि;

 “हाथी के दाँत खाने के और दिखाने के और”-

This is real face of Nitish Kumar- barbaric, inhuman & dictatorial.

He treats poor migrant laborers as herd animals. Each time they speak up against govt’s failure they are beaten black & blues. This suppression & atrocity must stop. Plz

यह नीतीश कुमार का असली चेहरा है- बर्बर, अमानवीय और तानाशाह.

वह गरीब प्रवासी मजदूरों को झुंड के जानवरों के रूप में मानता है. हर बार वे सरकार की विफलता के खिलाफ बोलते हैं कि वे काले और उदास हैं. यह दमन और अत्याचार बंद होना चाहिए. plz