फूड प्रोडक्ट की नहीं होगी कमी – सुशील मोदी

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- बिहार सरकार ने राज्य में लॉकडाउन को देखते हुए राज्य के सभी उच्चस्तरीय अधिकारियों को आम जनता की राशन और खाद्य सामिग्री कमी जैसी समस्याओं से निपटने के लिए निर्देश जारी किये थे. जिसके तहत मुख्यमंत्री ने लगातार 3 महीने तक (अप्रैल से जून 2020) तक राशनकार्डधारियों को एक महीने के बराबर मुफ्त राशन देने का फैसला भी किया है. अब बिहार में लॉक डाउन बढ़ने की स्थिति में भी खाद्यान्न की कोई कमी नहीं हो इसके लिए बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कारोबारियों से बातचीत के बाद  यह भरोसा दिया है कि राज्य में फूड प्रोडक्ट की कोई कमी नहीं होगी.

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि, “आज कल ज़माना होम डिलीवरी का है इसलिए  दुकानदार होम डिलीवरी कर सकें इसको देखते हुए दुकानदारों को अब पास भी निर्गत किया जा रहा है  और जो दुकानदार अब तक इस व्यवस्था से नहीं जुड़े हुए थे उनके लिए यह सुनहरा मौका है. इसके साथ ही कारोबारियों से बातचीत में यह बात सामने आई कि बिहार में दाल की किल्लत हो सकती है, जिसे देखते हुए उप मुख्यमंत्री ने यह भरोसा दिया है कि सरकार जल्द ही सतना और कटनी से दाल की नई खेप मंगाएगी जिससे दाल की कमी की समस्या ख़त्म हो जाएगी.

सुशील कुमार मोदी ने बिहार में फूड सप्लाई की चेन बरकरार रखने के लिए कारोबारियों का आभार जताते हुए कहा कि,  “लॉकडाउन यदि 15 दिन और बढ़ेगा तब भी बिहार में फूड प्रोडक्ट की कोई कमी नहीं होगी, हालांकि सरकार कालाबाजारी को रोकने के लिए पूरी तरह से अलर्ट मोड में है. किराने की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंस का पालन हो, इसके लिए भी कारोबारियों और दुकानदारों को दिशा निर्देश जारी किया गया है”.

बता दें राज्य सरकार के द्वारा प्रशासन को साफ़ तौर पर निर्देश दिया गया था कि लॉकडाउन के दौरान भी राशन और खाद्य सामग्री सभी दुकाने खुली रहेंगी. इसी क्रम में बिहार सरकार के द्वारा आदेश जारी किया गया था कि राज्य में मीट, मछली और अंडे की दुकाने भी खुलेंगी जिससे किसी को भी खाने के सामान की किल्लत न हो.