भ्रष्टाचार का आलम ये कि चूहे खा जाते हैं बाँध

पटना  (TBN रिपोर्ट) | राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से नीतीश कुमार पर बिहार में बाढ़ के खतरे को लेकर हमला बोलते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री ने अभी तक बाढ़ के ख़तरों को लेकर ना कोई बैठक की और ना ही प्रभावित क्षेत्रों में जाकर तैयारी का जायज़ा लिया. आगे उन्होंने कहा है कि खानापूर्ति के नाम पर आलीशान बंगले में बैठ बिना मीडिया से बात किए एक प्रेस नोट भेज देंगे. तटबँधो की मरम्मती या नए बराज़ को लेकर सरकार कभी गम्भीर नहीं रही.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि डबल इंजन सरकार को नेपाल सरकार से वार्ता कर ठोस तैयारी करनी चाहिए ताकि बाढ़ जैसी विभीषिका का प्रभाव और नुक़सान कम हो सके. लेकिन सरकार के पास नियत और प्रबंधन की कमी है जिसका ख़ामियाज़ा हमारे कोसी इलाक़े के भाइयों को भुगतना पड़ता है.

तेजस्वी यादव ने कहा है कि मानसून के दस्तक से बिहार के कोसी और गंडक नदी के मैदानी इलाक़ों के लोग आशंकित हैं. जान-माल,मवेशी का नुक़सान हर साल होता आ रहा है, विस्थापन का सामना करते आ रहे हैं लेकिन इस निकम्मी सरकार ने 15 वर्षों में कोई ठोस कदम नहीं उठाया. भ्रष्टाचार का आलम ये है कि यहाँ चूहे बाँध खा जाते हैं.