नाकामी छिपाने के लिए प्रवासी गरीबों को मोहरा बना रही है सरकार – AAP

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार सरकार प्रवासी मजदूरों को अपने गृहराज्य में ही रोजगार देने का दावा कर रही है. वहीँ बिहार पुलिस मुख्यालय की ओर से राज्य भर के सभी जिला पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक (रेल सहित) को पत्र भेजकर अलर्ट किया गया है कि प्रवासियों के आगमन के कारण राज्य में अपराध की घटनाएं बढ़ने की आशंका है. बिहार पुलिस मुख्यालय ने विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न होने की सम्भावना जताई है. 

बिहार में इस पत्र को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने गरीब अधिकार दिवस के रूप में विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की है. कांग्रेस भी मजदूरों के विभिन्न मुद्दों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रही है. इसी क्रम में बिहार आम आदमी पार्टी (आप) ने नीतीश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा है कि बिहार में कानून बस नाम मात्र ही है और ये बात जग जाहिर है.

आम आदमी पार्टी ने नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अपने सिस्टम की नाकामी छिपाने के लिए प्रवासी गरीबों को मोहरा बना रही है सरकार. आगे आप ने बिहार सरकार से सवाल करते हुए कहा कि बिहार में प्रवासियों की वजह से अपराध बढ़ेंगे तो सरकार बताए कि पिछले कई सालों में बिहार में बेतहाशा अपराध बढ़े हैं उसके लिए कौन जिम्मेदार है?