आम आदमी मरने पर मजबूर – तेजस्वी यादव

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शुक्रवार को बिहार विधान मण्डल में नेता प्रतिपक्ष व आरजेडी नेता तेजस्वी यादव साइकिल चलाकर सदन पहुंचे. वे देश में लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस सिलेंडरों के दामों का विरोध जता रहे थे. अभी बिहार बजट का सत्र चल रहा है.

तेल की बढ़ती क़ीमतों के विरोध में शुक्रवार को तेजस्वी साइकिल चलाकर विधानसभा पहुँचे. तेजस्वी ने कहा कि “निर्धनों को चूसने वाली धनवानों की प्रियतम सरकार ने पेट्रोल, डीजल, गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी कर आम आदमी को मरने पर मजबूर कर दिया है. डबल इंजन सरकार गरीबों को लूट खुलकर पूँजीपतियों के लिए बैटिंग कर रही है“.

काठ की हांडी बार बार नहीं चढ़ती

तेजस्वी यादव ने बिहार में नौकरी और रोजगार के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार के साथ-साथ नीतीश सरकार को भी घेरा. उन्होंने कहा कि “नौकरी के नाम पर एक काठ की हांडी केंद्र सरकार ने चढ़ाई थी, 2 करोड़ नौकरी प्रति वर्ष वाली, तब से नौकरी के नाम पर वे पकौड़ा तलना ही सुझा पाए. अब दूसरी 20 लाख नौकरी वाली हांडी बिहार सरकार ने चढ़ाई है जिसके बाद से नौकरी शब्द इनके शब्दकोश से गायब है“.

आप यह भी पढ़ेंअंबानी को धमकी भरी चिट्ठी – ‘मुकेश भाई, संभल जाना, ये तो बस ट्रेलर’

तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि “दलित, अतिपिछड़े व अल्पसंख्यक वर्गों के उत्थान के लिए बिहार के कुल बजट का 2% भी आवंटित नहीं किया गया है. इतनी बड़ी आबादी को ऊँट के मुँह में जीरा समान खानापूर्ति कर, इन वर्गों के कल्याण के नाम पर राजनीति करने वाली JDU/BJP सरकार अपना झूठा महिमामंडन करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ती“.

बताते चलें कि पटना की सड़क पर पहले भी तेजस्वी यादव किसान आंदोलन के समर्थन और पेट्रोल डीज़ल दामों में बढ़ोतरी के विरोध में ट्रैक्टर चलाते हुए विधान सभा मार्च किया था. परंतु उस समय सुरक्षाबलों ने तेजस्वी के ट्रैक्टर को विधानसभा परिसर से पहले ही रोक दिया था.