तेजस्वी ने सरकारी आवास को बनाया कोविड केयर सेंटर, JDU ने कहा राजनीतिक नाटक

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| समूचे देश के साथ साथ बिहार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच राजनीति भी अपनी चरम सीमा पर है. सरकार व विपक्ष एक-दूसरे पर कीचड़ उछाल रहे हैं. बहरहाल, बिहार विधानमंडल में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बड़ा दांव खेला है. उन्होंने पटना के 1, पोलो रोड स्थित अपने सरकारी आवास में कोविड सेंटर तैयार कर नीतीश सरकार से इसे टेकओवर करने का अनुरोध किया है. इसकी जानकारी उन्होंने बुधवार को अपना एक वीडियो जारी कर दी.

तेजस्वी के आवास पर तैयार इस कोविड सेंटर में मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन, दवाओं तथा भोजन सहित सभी सुविधाओं की नि:शुल्क व्यवस्था की गई है. यह व्यवस्था नेता प्रतिपक्ष ने अपने निजी कोष से की है.

नेता प्रतिपक्ष ने इससे पहले मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर मांग की थी कि राज्य के सभी विधायक सहित उन्हें भी राज्य के किसी भी अस्पताल, पीएचसी, कोविड केयर सेंटर के अन्दर जाकर मरीजों और उनके परिजनों से मिलने और राहत पहुँचाने की इजाज़त हो. इसके अलावा तेजस्वी ने कोविड केयर सेंटर खोलने और सामुदायिक किचन चलाने की भी इजाज़त की मांग की थी. सीएम को लिखे अपने पत्र में तेजस्वी ने राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था सहित कोरोना मैनेजमेंट, बचाव और राहत कार्यों को सुधारने की ज़रूरत बताई थी.

तेजस्वी ने सत्तापक्ष से जुड़े लोगों पर हमला बोलते हुए कहा कि ये लोग अक्सर बयान जारी कर कहते हैं कि नेता प्रतिपक्ष को स्वयं फ्रंट पर रहकर कोरोना जांच, जीवन रक्षक दवाओं, बेड, ऑक्सीजन तथा अस्पताल सुनिश्चित व सुव्यवस्थित कराने के साथ साथ कोरोना के विरुद्ध इस लड़ाई की अगुवाई करनी चाहिए.

तेजस्वी ने कहा कि सत्तारूढ़ दलों द्वारा सरकारी व्यवस्था को दुरुस्त करने के बजाय नेता प्रतिपक्ष को खोजने की कवायद को जनता भी इसी दृष्टि से देख रही है. उन्होंने कहा कि हम जिम्मेदार विपक्ष हैं तथा मैं स्वयं भी एक संवैधानिक पद पर हूं. ऐसे में मुझे राज्य के लोगों की समस्या को जानने तथा उसके समाधान हेतु सरकार द्वारा उठाए जाने वाली कदमों को जानने तथा जनहित में कमियों को भी सरकार के सामने लाने का अधिकार है.

जदयू ने कहा राजनीतिक नाटक

तेजस्वी द्वारा अपने सरकारी आवास पर कोविड सेंटर बनाये जाने पर सत्ताधारी पार्टी जदयू के एमएलसी और प्रवक्ता नीरज कुमार ने तंज कसा है. उन्होंने तेजस्वी यादव को लापतागंज का नायक बताते हुए इसे राजनीतिक नाटक कहा है.

नीरज कुमार ने कहा, ‘लापतागंज के नायक तेजस्वी यादव नया राजनीतिक नाटक, सरकारी आवास आपके पिता की अवैध रूप से अर्जित संपत्ति नहीं है. पार्टी का कोविड केयर सेंटर खोलना, आंखों में धूल झोंकना है. आपकी मंशा साफ नहीं, आपके ही अल्पसंख्यक विधायक ने नवादा प्रशासन पर भरोसा किया, सरकारी अस्पताल को सिलेंडर दिए और आप अपने सरकारी आवास में बेड लगा रहे हैं.’

जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने आगे कहा, ‘हम जानना चाहते हैं कि आपके घर में डॉक्टर है, उनके सहयोगी होंगे, उनकी सेवा भी उपलब्ध कराएगा, यहा भी बोलना चाहिए. इस कोविड सेंटर में लापतागंज के नायक आप कोविड मरीजों के मनोबल को बढ़ाने के लिए कम से कम वहां निवास करेंगे, इसकी भी घोषणा करनी चाहिए.’

बात भले राजनीति से भी प्रेरित हो लेकिन नेता प्रतिपक्ष ने अपने सरकारी आवास को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करके उसको शुरू करने की इजाज़त मांग कर सरकार पर दबाव बढ़ा दिया है.