CM और उनके मंत्री सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी का क्या ?

 पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार में कोरोना संक्रमण को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव का गुस्सा फूट पड़ा है. नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर भड़ास निकालते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री आवास में परिवार समेत 85 लोग कोरोना पॉज़िटिव हो चुके हैं. इसके साथ ही बिहार में भाजपा की लगातार होती वर्चुअल रैली के कारण बिहार भाजपा के 75 नेता भी संक्रमित हो गए हैं.

राजद नेता ने कहा है कि उपमुख्यमंत्री आवास के निजी स्टाफ सहित अनेक लोग संक्रमित हो चुके हैं. इसके साथ ही मुख्य सचिव और सचिवालय के अनेक कर्मचारियों के संक्रमित होने की सूचना भी सामने आयी है. तेजस्वी ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री आवास के 85 लोग समेत उपमुख्यमंत्री के निजी लोग एवं पार्टी शीर्ष मंत्री,अधिकारी पॉज़िटिव पाए जा रहे है. बिहार में जब मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी का क्या?

तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार में भाजपा के 100 में से 75 नेता कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. ये सत्ताधारी ना जाने कौन सी जमात के लोग हैं जिनको आम आवाम की जिंदगी की बिलकुल भी चिंता नहीं है? तेजस्वी ने गुस्से में कहा है कि क्या ये लाशों के ढ़ेर पर चुनाव करवाना चाहते है? 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि इस भयावह स्थिति के बीच चुनाव करवा कर नीतीश कुमार जी और सुशील मोदी क्या चाहते है कि लोग बूथ के बाद सीधे शमशान चले जाएं?  आगे उन्होंने कहा है कि लोकतंत्र में जब “लोक” नहीं बचेगा तो “तंत्र” का क्या करियेगा??  तेजस्वी ने आगामी चुनाव को लेकर कहा है कि लोगों की जान बचाना ज्यादा ज़रूरी है, चुनाव तो आते और जाते रहेंगे. किसी भी इंसान को इतना भी स्वार्थी नहीं होना चाहिए.