गोपालगंज नहीं जा सके तेजस्वी, CM पर बोला हमला

पटना (TBN रिपोर्ट)| बिहार के गोपालगंज ट्रिपल मर्डर को लेकर जो राजनीतिक गलियारों में सियासी घमासान जारी है. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने कहा था कि गोपालगंज सामूहिक हत्याकांड में नामजद प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी जदयू विधायक की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही है. इसके साथ ही चेतावनी देते हुए तेजस्वी ने कहा था कि अगर जेडीयू विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वो सभी विधायकों को लेकर गोपालगंज जाएंगे. इसको लेकर फिलहाल तेजस्वी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी से मुलाकात के बाद स्पष्ट कर दिया है कि वह सरकार से अनुमति मिलने के बाद ही गोपालगंज जाएंगे .

बिहार विधानसभा स्पीकर विजय कुमार चौधरी से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा है कि वह मारपीट करने के लिए गोपालगंज नहीं जा रहे थे . फिर भी सरकार की तरफ से उनको रोका गया. तेजस्वी ने कहा है कि वह अब सरकार की अनुमति मिलने का इंतजार करेंगे. इसके साथ ही नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद अपने आवास से बाहर नहीं निकल रहे हैं लेकिन वह इन परिस्थितियों में भी बाहर निकलकर गोपालगंज जाना चाहते थे .

गोपालगंज में हुए हत्या कांड को लेकर  तेजस्वी यादव आज गोपालगंज के लिए निकलना चाहते थे . लेकिन सुबह से ही बिहार पुलिस प्रशासन का राबड़ी देवी के आवास के बाहर भारी इंतजाम कर दिया गया था . राज्य सरकार ने इस मामले में सख्ती दिखाते हुए तेजस्वी और उनके विधायकों को आगे जाने की अनुमति नहीं दी थी . लगभग 5 घंटे तक चली लंबी जद्दोजहद के बाद तेजस्वी यादव आखिरकार विधानसभा अध्यक्ष से मिलने पहुंचे और स्पीकर विजय चौधरी से मुलाकात के बाद उन्होंने गोपालगंज जाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया.

बता दें बिहार के गोपालगंज में हुई इस घटना में बाहुबली सतीश पांडेय, कुचायकोट से जदयू विधायक अमरेन्द्र पांडेय उर्फ पप्पू पांडे और सतीश पांडे के पुत्र व जिला परिषद के अध्यक्ष मुकेश पांडेय का हाथ बताया जा रहा है. यह बयान खुद हमले में घायल जेपी यादव ने दिया है, जिनके परिवार के तीन सदस्यों की मौत इस बर्बर जनसंहार में हुई है.