नीतीश कुमार हैं भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह: तेजस्वी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ख़िलाफ़ तंज कसते हुए उन्हें भ्रष्टाचार का भीष्मपितामह बताया है और उनपर भ्रष्टाचारियों को बचाने का आरोप लगाया है.

“जब मैं सत्ता में आऊँगा, तो मैं सारे पैसे वसूल करूंगा. 30,000 करोड़ रुपये लूट लिए गए हैं, जो जनता से संबंधित हैं. नीतीश कुमार ने भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों की रक्षा की. वे सभी उस भ्रष्टाचार के भागीदार हैं और इसीलिए मैं नीतीश कुमार से कहता हूं कि वे भ्रष्टाचार के भीष्मपितामह हैं, “तेजस्वी ने एक न्यूज एजेंसी को विशेष रूप से यहां बताया.

भाजपा के 19 लाख रोजगार देने के चुनावी वायदे पर तेजस्वी ने कहा कि हमने उन सरकारी पदों के बारे में बात की जो राज्य के शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग और गृह मंत्रालय में खाली हैं. तेजस्वी ने कहा कि हम समय बता रहे हैं कि हम सरकारी नौकरी कब मुहैया कराएंगे. मैं अपनी पहली कैबिनेट बैठक में ऐसा करूंगा.

तेजस्वी ने कहा कि भाजपा के लिए ‘पकौड़ा’ बनाना भी एक रोजगार है. भाजपा का कहना है कि वे 19 लाख रोजगार देने की कोशिश करेंगे. भाजपा ने 2 करोड़ नौकरियों का वादा और बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया था. और तो और, बिहार के विशेष पैकेज का क्या हुआ?

राजद नेता तेजस्वी ने यह भी संकेत दिया कि भाजपा और जदयू के दावों में विरोधाभास है. उन्होंने कहा कि एक तरफ सुशील कुमार मोदी कहते हैं कि सरकार के पास नौकरियों के लिए पैसा नहीं है, लेकिन दूसरी ओर बीजेपी ने अपने घोषणा-पत्र में 19 लाख नौकरियों का वादा किया है जो महागठबंधन के वादे से 9 लाख अधिक है. तेजस्वी ने कहा कि सुशील मोदी ने मेरे 10 लाख नौकरियां देने की घोषणा पर मेरा मजाक उड़ाया था. एक तरफ नीतीश कुमार पूछते हैं कि नौकरियों के लिए पैसा कहां है और दूसरी तरफ 19 लाख नौकरियों की घोषणा की गई है जो खुद में एक विरोधाभास है.