सुशील मोदी ने किया सीबीआई कोर्ट के फैसले का स्वागत

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बाबरी विध्वसं मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि इस मामले का मैं चश्मदीद गवाह रहा हूं.

उन्होंने बताया कि इस घटना के दौरान वो वहां मौजूद थे. वहां पर जो मंच बना था, उसका वो संचालन कर रहे थे. उन्होंने बताया कि इस घटना का कोई पहले से बनाया हुआ षडयंत्र नहीं था. बल्कि वहां पर उपस्थित जो भीड़ थी उसने आवेश में आकर पूरी घटना को अंजाम दिया.

सुशील मोदी ने कहा कि मंच पर से आडवाणी जी सहित अन्य नेताओं ने रोकने का काफी प्रयास किया, मगर भीड़ उन्मादी थी और किसी को सुनने के लिए तैयार नहीं थी. पूरी घटना से वहां मौजूद आडवाणी जी सहित वहां उपस्थित तमाम नेता काफी दुखी थे. कोर्ट ने आज इस पर अपनी मुहर लगा दी है. कोर्ट का फैसला स्वीकार और स्वागतयोग्य है.

आपको बतादें कि आयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को ढहाए गए विवादित ढांचे के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत आज फैसला सुना दिया. कोर्ट ने आडवाणी, जोशी समेत सभी 32 आरोपियों को बली कर दिया है. इस मामले में BJP के वरिष्ठ BJP नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार समेत 32 आरोपी थे.

28 वर्ष तक चली सुनवाई के बाद बाबरी विध्वंस के आपराधिक मामले में फैसला सुनाते हुए सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसके यादव ने कहा कि घटना पूर्व नियोजित नहीं थी. बाबरी विध्वंस की घटना अचानक हुई थी. ऐसे में इनके खिलाफ मामला नहीं बनाता है. इन सभी आरोपियों को बरी किया जाता है.