सुशील मोदी का महागठबंधन पर पलटवार

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | शुक्रवार को महागठबंधन के घटक दल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने सुशील मोदी की तस्वीर शेयर कर बड़ा हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि कैसे भूल जाये? जिसको हमेशा अपनी पड़ी हो, वो जनता को बीच मझधार में छोड़ भागेगा ही. इसपर आज सुशील मोदी ने महागठबंधन पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया.

डिप्टी मिनिस्टर सुशिल मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि लालू-राबड़ी राज की पालकी ढोने वाली कांग्रेस बिहार में राजद के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन से लेकर पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव तक के जघन्य अपराधों के विरुद्ध चुप रही. इसके बाद सुशील मोदी ने सोनिया और राहुल गाँधी पर निशाना साधते हुए कहा कि सोनिया-राहुल की पार्टी महाराष्ट्र के पालघर में पुलिस की मौजूदगी में साधुओं की हत्या, राजस्थान के करौली (जयपुर) में पुजारी को जिंदा जलाया जाना और बारां में नाबालिग से बलात्कार की घटनाओं पर भी बोलने का साहस नहीं कर सकी. राजद और कांग्रेस ने जिन मुद्दों पर चुप्पी साधी और जैसे लोगों को टिकट दिया, उसके बाद उनके गठबंधन का वैचारिक दिवालियापन जाहिर हो गया है.

आगे उन्होंने ट्वीट किया कि कांग्रेस अगर कोई घोषणा पत्र लाना चाहती है, तो बताये कि उसने बिहार में खेती, व्यापार और उद्योग को चौपट कर महापलायन के लिए लाखों लोगों को मजबूर करने वाली राबड़ी सरकार का समर्थन क्यों किया था? क्या राजद के साथ रहते हुए वह पलायन की दिशा पलटने वाला रोडमैप लागू कर सकती है ?

इतना ही नहीं सुशील मोदी ने मजदूरों और गरीबों पर कहा कि कांग्रेस शासित राजस्थान और महाराष्ट्र में लाकडाउन के समय फंसे बिहार के लोगों के साथ बदसलूकी क्यों हुई? क्या कांग्रेस किसान सम्मान निधि और गरीबों को मुफ्त गैस कनेक्शन देने वाली योजना को बिहार में लागू करने से रोक देगी? महागठबंधन को घोषणा पत्र नहीं, बिहार पर श्वेतपत्र जारी करना चाहिए.