सुशील मोदी ने लालू पर बोला हमला

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार में चल रहे कोरोना संकट के दौर में भी राजनीति खेमों में एक दूसरे की कार्यशैली और विभिन्न मुद्दों को लेकर आपसी बयानबाजी लगातार जारी है. बयानबाजी के इसी क्रम में बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए ट्वीटर के माध्यम से ट्वीट करते हुए कहा कि;

लालू-राबड़ी राज में नैतिकता को ताक पर रख कर चारा-अलकतरा घोटाले किए गए. सड़क, बिजली, सिंचाई के विकास की उपेक्षा करना और अपहरण उद्योग को संरक्षण देना उनकी महान आर्थिक नीति का आधार था. लालूनानिक्स में कालेधन से रंगभेद नहीं किया जाता था. सामाजिक संतुलन का सूत्र वाक्य था- भूरा बाल साफ करो.

लोकलाज का “आदर्श” तो तब स्थापित हुआ, जब चारा घोटाला में जेल जाने की नौबत आने पर तत्कालीन मुख्यमंत्री ने तमाम वरिष्ठ नेताओं को धकिया कर अपनी पत्नी को खड़ाऊँ मुख्यमंत्री बनवा दिया.

जिन्होंने संविधान, लोकलाज और राजधर्म की मर्यादाएँ तोड़ीं, वे जेल से ज्ञान दे रहे हैं.

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू पर हमला करते हुए ट्वीट कर कहा कि

जिस राबड़ी देवी ने कांग्रेस के सभी विधायकों को मंत्री-पद देकर अपनी अल्पमत सरकार चलायी, वे दूसरों को “बिकाऊ” कह रही हैं.

लालू परिवार इन दिनों इतनी हताशा में है कि शब्दकोश से खोज-खोज कर सरकार की आलोचना कर रहा है.

कोरोना संकट के समय अगर राजद नकारात्मकता का लाकडाउन कर सरकार के प्रयासों में सहयोग देता, गरीबों-मजदूरों का ज्यादा भला होता.

वे दिल्ली सरकार के झठे प्रचार पर मुग्ध होते हैं, लेकिन बिहार की पहल दिखाई नहीं पड़ती.