आप थोड़े ज्यादा व्याकुल आत्मा हैं – सुहेली मेहता

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| लगता है बिहार में सत्ताधारी पार्टियों के बीच इन दिनों रार बढ़ रहा है. तभी तो सत्ता में काबिज बीजेपी के एक मंत्री कहते हैं कि नीतीश कुमार को मजबूरी में बीजेपी ने मुख्यमंत्री स्वीकार किया है, तो कभी सत्ता में काबिज एनडीए के एक नेता कहते हैं कि नीतीश कुमार पीएम मैटेरियल हैं.

खैर, इन दिनों एनडीए गठबंधन की सरकार की दो पार्टियों में जुबानी जंग तेज हो गई है. मंगलवार को जदयू नेता सुहेली मेहता ने भी चौका मारा और बीजेपी के नेता व मंत्री सम्राट चौधरी का नाम लिए बिना कहा कि आप व्याकुल न हों. साथ ही उन्होंने कहा कि यदि आप इतना ही व्याकुल हैं तो आप ही राज्य के सीएम बन जाइए.

दरअसल, शनिवार को औरंगाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि हम गठबंधन की सरकार चला रहे हैं. ये हमारी स्वतंत्र सरकार नहीं है. गठबंधन के कारण ही बीजेपी को 74 सीटें जीतने के बावजूद 43 सीट वाले नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाना पड़ा है.

साथ ही सम्राट चौधरी ने कहा था कि बिहार की सरकार में चार पार्टियां शामिल हैं. उन चारों की विचारधारा अलग है. सबकी अलग अलग मांग है. ऐसे में सरकार चलाना औऱ लोगों की भावनाओं का ख्याल रख पाना बेहद मुश्किल है.

औरंगाबाद के पहले भी सम्राट चौधरी ने हाजीपुर में बीजेपी की जिला कार्यसमिति की बैठक में कहा था कि जब तक बीजेपी अकेले बहुमत में नहीं आती तब तक बिहार में बहुत सुधार करना संभव नहीं है. सम्राट चौधरी ने कहा था कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को कोशिश करनी चाहिए कि पार्टी 2025 में अकेले बहुमत में आए.

इसी क्रम में जदयू की नेता सुहेली मेहता ने अपने फेसबुक वाल पर एक धमाकेदार पोस्ट डाला और बिना नाम लिखे सम्राट चौधरी को नसीहत दे डाली. सुहेली ने लिखा-

ज्यादा व्याकुल नहीं होना है…. ऐसे भी आप थोड़े ज्यादा व्याकुल आत्मा हैं.. जब आप लालू जी के द्वारा अवैध रूप से मंत्री बनाने के बाबजूद उनके भी नहीं हो पाए तो आप किसके हो सकते हैं..?? जहां तक विभिन्न विचारधारा वाली पार्टियों के सरकार की बात है तो सरकार तो गठबंधन की चल ही रही है..!! दिक्कत कहां हैं.?? बस आप ही बेचैन हैं. नीतीश जी आपको ज्यादा मजबूरी लग रहे हैं तो आप कम बड़े नेता थोड़े ही हैं..बिहार में आपकी पार्टी में तो मेरे खयाल से आपसे ज्यादा बड़ा नेता कोई नहीं..!! कहिये अपने नेता से आपही को मुख्यमंत्री बना दें..आखिर आप इतने मजबूर क्यों है…??

आपको बता दें कि गत 17 मार्च को विधान सभा सत्र के दौरान मंत्री सम्राट चौधरी ने सारी सीमाएं लांघ दी थी. एक सदस्य के पूछे सभी सवालों के ऑनलाइन जवाब न मिलने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने जब सम्राट चौधरी से सवाल पूछा था तो मंत्री ने अध्यक्ष को ही कहा था कि ज्यादा व्याकुल नहीं होइए. इस पर अध्यक्ष ने तुरंत मंत्री को टोकते हुए ये शब्द वापस लेने को कहा था, लेकिन मंत्री ने अध्यक्ष को उंगली दिखाते हुए कहा कि आप ऐसे निर्देश नहीं दे सकते, आप ऐसे सदन नहीं चला सकते.

Also Read | BJP के मंत्री ने दिया बड़ा बयान, बिहार एनडीए में कहीं खटपट तो नहीं !

इस मामले पर उस समय काफी बवाल भी हुआ था और विस अध्यक्ष ने बाद में इस्तीफा तक देने की घोषणा कर डाली थी. बाद में मामले को शांत किया गया.