JDU से निकाले जाने पर बोले श्याम रजक- वहां सामाजिक न्याय की हत्या हो रही थी

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार सरकार के मंत्री रहे श्याम रजक ने JDU से निकालने जाने के बाद अपनी चुप्पी तोड़ी है. रजक ने कहा कि मैं विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष अपना इस्तीफा पत्र देने जा रहा हूं. रात भर मैंने चंद्रशेखर जी की जेल यात्रा जाने वाली किताब को पढ़ा है. जिस जगह पर सामाजिक न्याय की हत्या हो मैं वहां नहीं रह सकता हूं. रजक ने कहा कि मुझे जिस तरीके से पार्टी से निकाला गया है, वह असंवैधानिक है.

सोमवार को ही राजद में शामिल होने वाले रजक को जेडीयू से निकाले जाने के बाद उनके आवास पर राजद नेताओं के मिलने जुलने की प्रक्रिया काफी तेज हो गई. बताया जा रहा है कि श्याम रजक 11 बजकर 30 मिनट पर 10 सर्कुलर रोड राबड़ी आवास जायेंगे. श्याम रजक के आवास 20ए हॉर्डिंग रोड मिलने पहुंचे राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि जो सपना तेजस्वी यादव जी ने देखा था बिहार की तस्वीर और तकदीर को बदलने की, जो तस्वीर तेजस्वी यादव ने देखा है कि बिहार की दिशा और दशा को बदलेंगे और बिहार को विकास के रास्ते पर ले जाएंगे, उसको पूरा करने के लिए जो भी लोग आएंगे उनका स्वागत है.

RJD प्रवक्‍ता ने बताया कि ऐसे कई बड़े चेहरे पाइपलाइन में हैं और तेजस्वी यादव के संपर्क में हैं. तिवारी ने दावा किया कि आने वाले दिनों में डबल इंजन सरकार के नेताओं की नींद उड़ जाएगी. मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि तेजस्वी यादव की गुगली पर हैट्रिक होगा. राजद प्रवक्ता के इस बयान से जहां आगे के दिनों में राजनीतिक हलचल तेज होने की उम्मीद है, वहीं जदयू और राजद के बड़े नेताओं का दल छोड़ने और दूसरी पार्टी में जाने पर भी अटकलें तेज हो गयी हैं. श्याम रजक दलितों के नेता माने जाते हैं, ऐसे में राजद में उनकी वापसी से राजद ये मान रहा है कि उसका दलित वोट बैंक और मजबूत होगा.