सत्तरघाट पुल और लखीसराय बाइपास तैयार, उद्घाटन करेंगे CM

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार के लोगों को लम्बे जाम की समस्या से निजात दिलाने के उद्देश्य से गंडक नदी पर शुरू किया गया सत्तरघाट पुल और लखीसराय बाइपास रोड का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है. बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने इसके बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि आगामी 16 जून को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गंडक नदी पर नवनिर्मित सत्तर घाट पुल और लखीसराय बाइपास रोड का उद्घाटन करेंगे, इसके साथ ही सासाराम के उत्तरी बाइपास के निर्माण के प्रथम चरण की परियोजना का शिलान्यास भी करेंगे.

पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने बताया कि गंडक नदी पर निर्मित सत्तरघाट पुल के बन जाने से सारण और तिरहुत प्रमंडल की दूरी घट जाएगी. बिहार राज्य पुल निर्माण निगम द्वारा बनवाये गए 1.440 किमी लंबे पुल की कुल निर्माण लागत 263.47 करोड़ रूपये है.  सत्तरघाट पुल गंडक नदी पर बैकुंठपुर से चकिया को जोड़ेगा. इससे सीवान, छपरा, गोपालगंज होते हुए नेशनल हाइवे-28 के जरिये उत्तर बिहार के अधिसंख्य जिलों की संपर्कता हो जायेगी. इस पुल निर्माण के बाद पटना से मशरख होते हुए रक्सौल तक सीधा रास्ता उपलब्ध हो जायेगा.

नंद किशोर यादव ने बताया कि इस पुल का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 20 अप्रैल, 2012 को किया था और जनवरी 2019 में एरियल सर्वे किया था. इसके साथ ही 146.3107 करोड़ की लागत से लखीसराय में बाइपास रोड का भी 16 जून को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उद्घाटन किया जाएगा. पथ निर्माण विभाग द्वारा निर्मित लखीसराय बाइपास में अवस्थित दोनों रेलवे लाईन पर समेकित आर.ओ.बी का निर्माण किया गया है. इस पुल परियोजना की कुल लम्बाई 6.593 किमी है. इस बाइपास के बन जाने से लखीसराय शहर को लम्बे जाम की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी.

नंद किशोर यादव ने बताया कि इसी प्रकार रोहतास जिले के सासाराम शहर के उत्तरी बाइपास के निर्माण की 122.39 करोड़ रूपये की प्रथम चरण परियोजना का शिलान्यास 16 जून को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे. यह पथ दो लेन का होगा. इसके अंतर्गत रेल लाईन पर आरओबी के अलावा स्टेट हाइवे 17 एवं 12 पर भीयूपी (व्हीकल अंडर पास) का निर्माण किया जायेगा. इसके बन जाने से सासाराम शहर के पश्चिमी से उत्तरी सीधी संपर्कता मिल जायेगी और बरास्ता सासाराम आरा से बनारस जाने के लिए सासाराम शहर में प्रवेश करने की जरूरत नहीं होगी.

बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने इसके बारे में जानकारी देते हुए ट्वीट कर कहा है कि;