RJD विधायक ने दी मुख्यमंत्री राहत कोष में रु 51 लाख

डॉ रामानन्द यादव (फाइल फ़ोटो)

फुलवारीशरीफ (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- बिहार सरकार ने संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने की वजह से संक्रमण को रोकने के लिए कई ख़ास क़दम उठाने के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 100 करोड़ों रुपए की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से जारी की है. राज्य सरकार के साथ ही बिहार के अन्य राजनीतिक दल भी लॉक डाउन के दौरान फंसे हुए लोगों की मदद के आगे आये हैं जिनमे जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और पूर्व सांसद पप्पू यादव भी जरूरतमंद लोगों के पास खाना और अन्य मदद के साथ सेनेटाइजर भी पंहुचा रहे हैं.इसी क्रम में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया के जरिये उन लोगों की मदद के लिए आगे आये हैं जो लोग अपने घरों से दूर अन्य राज्यों में फंसे हैं या बिहार में ही मुसीबतों का सामना कर रहे हैं. इसी क्रम में अब राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायको में भी अब कोरोना पीड़ितों के इलाज व अन्य मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में राशि देने का सिलसिला शुरू हो गया है.

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की वरिष्ठ नेत्री पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी मुख्यमंत्री राहत कोष में बड़ी धनराशि दी है. इसके साथ ही फतुहा से राजद विधायक प्रो डॉ रामानंद यादव ने अपने विधायक फंड से 51 लाख की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है. रामानंद यादव ने इस विषय पर जानकारी देते हुए बताया कि “मुख्यमंत्री जी ने सभी विधायकों से 50 – 50 लाख की राशि कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए देने को कहा है”.

विधायक प्रो डॉ रामानन्द यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि “वे अपने फंड से 51 लाख पीड़ितों की मदद के लिए दे रहे हैं “. इसके साथ ही विधायक यादव ने प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि “उनके विधानसभा क्षेत्र फतुहा के फतुहा प्रखण्ड, फतुहा नगर परिषद, संपतचक प्रखण्ड एवम पटना नगर निगम वार्ड नम्बर 44 , खेमनीचक व वार्ड 46 , आशोचक में मास्क हैंड ग्लब्स , हैंड वॉश , थर्मल स्कैनर ,सैनिटाईजिंग आदि की व्यवस्थाओं में राशि का इस्तेमाल किया जाए ताकि जनता को कोरोना से बचाया जा सके” .

प्रो डॉ रामानन्द यादव ने कोरोना से बचने के लिए सभी लोगो से अपील करते हुए कहा कि “इस संकट की घड़ी में हमें जाति-धर्म मजहब वर्ग की राजनीति से ऊपर उठकर एकजुट होकर कोरोना को हराना है. इसके लिये सभी लोगो से अपने अपने घरों में ही रहना हैं”.