Gyanvapi Survey की पूरी रिपोर्ट आ गई सामने, जानिए सर्वे टीम ने क्या-क्या देखा?

वाराणसी (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पिछले कई दिनों से चल रही खींचतान के बाद गुरुवार को ज्ञानवापी मस्जिद में किए गए सर्वे की रिपोर्ट वाराणसी कोर्ट (Gyanvapi Survey Report submitted to the Varanasi Court on Thursday) को सौंपी गई. यह सर्वे 3 दिन तक किया गया.

सर्वे के बाद कोर्ट कमिश्नर विशाल सिंह (Court Commissioner Vishal Singh) की ओर से सौंपी गई रिपोर्ट में कई अहम बातें कहीं गई हैं. इससे पहले के कमिश्नर अजय कुमार मिश्र की तरह विशाल सिंह की रिपोर्ट में भी हिंदू पक्ष के दावे को मजबूत करने वाले तथ्य लिखे हैं.

सर्वे में चौंकाने वाले खुलासे

इस सर्वे रिपोर्ट में कथित शिवलिंग या फव्वारे (Shivling or Fountains) को लेकर भी विस्तार से जानकारी दी गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वजूखाने में पानी कम करने पर 2.5 फीट का एक गोलाकार आकृति दिखाई दी, जिसे कि शिवलिंग कहा जा रहा है. गोलाकार आकृति ऊपर से कटी हुई है और अलग सफेद पत्थर है. इस आकृति के बीच में आधे इंच का छेद है, जिसमें सींक डालने पर 63 सेंटीमीटर गहरा पाया गया. इसी पत्थर पर विवाद खड़ा हो रहा है, क्योंकि हिंदू पक्ष ने इसे शिवलिंग बताया तो मुस्लिम पक्ष का कहना है कि यह फव्वारा है.

फव्वारा चलाने में असफल रही मस्जिद कमेटी

सर्वे के दौरान हिंदू पक्षकारों ने मस्जिद कमेटी से कहा कि इस कथित फव्वारे को चलाकर दिखाइए. इस पर मस्जिद कमेटी (Masjid Committee) के मुंशी ने घुमा फिराकर जवाब दिया और वो फव्वारा नहीं चला पाए. सर्वे करने वाली टीम को कथित फव्वारे में पाइप जाने की कोई जगह नहीं मिली है.

तहखाने में सर्वे टीम ने क्या देखा ?

1. दीवार पर पान के पत्ते के आकार के 6 फूल की आकृति.

2. 8-8 फीट के 4 पुराने खंभे थे, खंभों पर घंटी, कलश, फूल की आकृति बनी है.

3. एक खंभे पर पुरातन हिंदी भाषा में 7 लाइनें लिखी हुई हैं, जो पढ़ने योग्य नहीं हैं.

4. तहखाने में दरवाजे के पास दफ्ती का भगवान का फोटो जमीन पर पड़ा था, जो मिट्टी से सना हुआ था.

5. तहखाने के सभी दीवार और पिलर पानी से भीगे हुए थे.

6. तहखाने में 100 नई ईंटें भी पड़ी हुई हैं.

7. नंदी जी के ठीक सामने व्यास जी का तहखाना है.

8. नंदी जी से 18 फीट की दूरी पर तहखाने में एक खुला रास्ता मिला, जिस पर दरवाजा नहीं था. इसकी ऊपरी चौखट पर घंटी लगी हुई है.

9. नंदी जी से व्यास जी की कमरा 18 फीट की दूरी पर है.

10. व्यास जी के कमरे में दोनों तरफ 4-4 पत्थर के खंभे हैं, इसके अलावा दक्षिण दिशा में 1-1 ईंट के खंभे हैं.

11. व्यास जी के कमरे में दूसरे खंभे पर त्रिशूल के निशान हैं.

12. दक्षिण-पश्चिम के कोने में पश्चिमी दीवार पर स्वास्तिक का निशान खुदा हुआ मिला.

13. दीवार पर 3 कमल के फूल भी मिले, जिसके ऊपर स्वास्तिक के निशान भी मौजूद हैं.

14. तहखाने में एक तरफ 4 दरवाजे के स्थान को नई ईंटों से बंद कर दिया गया है.

15. तहखाने में दोनों तरफ के पत्थर के खंभों पर घंटी के आकार की कलाकृति और कलश के फूल की आकृति के खंभे मौजूद हैं.