रामविलास बोले- राष्ट्रपति शासन लागू करना पड़े तो भी टलना चाहिए विधानसभा चुनाव

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने फिर कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव को तय वक्त पर करवाने के लिए चुनाव आयोग, राज्य और जिला प्रशासन तैयारियां कर रहा है. हालांकि लोक जनशक्ति पार्टी के नेता व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि बिहार में अभी विधानसभा का चुनाव टाल देना चाहिए. एक न्यूज चैनल से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि बिहार में अभी कोरोना कितना बढ़ेगा और कितनी दूर तक जायेगा, कोई नहीं जानता. ऐसे में जहां लाखों शिक्षक पोलिंग अफसर होंगे, लाखों की संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती होगी, इसलिए लोजपा की राय अभी चुनाव टाल देने की है.

रामविलास पासवान ने कहा कि राष्ट्रपति शासन लागू करना पड़े या कोई अन्य कदम उठाने पड़े, यह हम नहीं जानते, लेकिन गरीबों की जान जोखिम में नहीं डाला जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि चुनाव हो तो सभी मतदाताओं को उनके वोट डालने का अधिकार मिलना चाहिए. बता दें कि हाल में सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने बिहार में तय समय पर ही चुनाव करवाने की मांग की है.

गौरतलब है कि बिहार में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 10 अगस्त तक 82 हजार के पार पहुंच गई है. बीते दो सप्ताह से हर दिन करीब दो हजार से अधिक कोविड-19 संक्रमण के मरीज पाए जा रहे हैं. वहीं प्रदेश के करीब 14 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं और करीब 70 लाख से अधिक आबादी इससे पीड़ित है. फिर भी चुनाव आयोग तय वक्त पर चुनाव करवाने की तैयारी में लगा हुआ है.

बता दें कि बिहार में 29 नवंबर से पहले हर हाल में नयी सरकार का गठन हो जाना है, ऐसे में नवंबर के आखिरी हफ्ते से पहले ही चुनाव की सारी प्रक्रियाएं पूरी की जानी है. वहीं मुख्य चुनाव आयुक्त के ताजा बयान के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि बिहार विधानसभा चुनाव तय समय पर ही कराए जाएंगे तो भी आरजेडी, कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं. इसी कड़ी में एनडीए का सहयोगी दल लोजपा भी कई बार चुनाव टालने की मांग कर चुका है.

पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान कई बार इस मामले में अपनी राय रख चुके हैं. वे कोरोना के हालातों के मद्देनजर लगातार चुनाव टालने की मांग कर रहे हैं. इसे लेकर ही जब उनसे सवाल पूछा गया कि आप चुनाव से कतरा क्यों रहे हैं? इसको लेकर जवाब देते हुए चिराग पासवान ने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है. लेकिन हम सिर्फ चुनाव लड़ने के लिए नहीं हैं. हम जानबूझकर लोगों को मौत के मुंह में नहीं डाल सकते हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले आगामी बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने बिहार के सभी दलों से चुनाव पर सुझाव मांगे थे. इस पर लोक जनशक्ति पार्टी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर अपनी बात रखी है और कोरोना संकट एवं 13 जिलों के बाढ़ग्रस्त होने की दलील देते हुए बिहार विधानसभा चुनाव टालने की मांग कर चुकी है.