छापा बिल्डर के यहां और तिलमिला रहे ललन सिंह : सुशील मोदी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| ‘आखिर एक भ्रष्ट बिल्डर और ठेकेदार के यहां छापा पड़ने से जेडीयू नेता ललन सिंह क्यों तिलमिलाए हुए हैं?’ – ऐसा कहा राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi BJP) ने. रविवार को मोदी ने ललन सिंह (Lalan Singh JDU National President) पर हमला बोलते हुए ऐसा कहा.

सुशील मोदी ने गब्बू सिंह को लेकर ललन सिंह हमला बोलते हुए बिल्डर गब्बू सिंह (Gabbu Singh) के ठिकानों पर आयकर का छापा पड़ा है. इसमें केवल आईएएस और आईपीएस ही नहीं बल्कि राजनीतिक आकाओं की भी पहचान की जानी चाहिए. इसके साथ ही उनको राजनीतिक संरक्षण देने वाले आकाओं की भी जांच होनी चाहिए.

राजनीतिक आकाओं की जांच होनी चाहिए

मोदी ने कहा कि आश्चर्य की की बात ये थी कि ललन सिंह लालू यादव के पक्ष में खड़े होकर बयान दे रहे ये समझ में आता है. सरकार है आरजेडी की तो उनका समर्थन कर रहे, लेकिन एक भ्रष्ट बिल्डर के यहां छापा पड़ता है. ललन सिंह तिलमिला जाते हैं. ये समझ नहीं आता है. बिल्डर के यहां इनकम टैक्स का छापा और तिलमिला रहे हैं ललन सिंह.

इसे भी पढ़ें| लालू के खिलाफ स्क्रैप घोटाले की जांच की मांग तेज

सुशील मोदी ने कहा कि वह कौन सीनियर आईएएस अफसर है जिसे विकास आयुक्त बना कर पदोन्नति देने के बाद जल संसाधन विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया. ऐसा इसलिए हुआ ताकि ऊंची राजनीतिक पहुंच वाले ठेकेदार गब्बू सिंह को लाभ पहुंचाते रहें.

रेस्तरां का गब्बू से कनेक्शन की जांच होनी चाहिए

सुशील मोदी ने कहा कि आयकर विभाग को उन अफसरों के बारे में खुलासा करना चाहिए जिनके अरबों रुपये का कालाधन गब्बू सिंह के जरिए निर्माण क्षेत्र में खपाया जा रहा था.

सुशील मोदी ने कहा कि पटना के जिस बड़े रेस्तरां मेन लैंड चायना के उद्घाटन के समय जेडीयू के दो बड़े नेता पुरानी कटुता भुला कर फिर मिल गए थे. उस रेस्तरां से गब्बू सिंह का क्या संबंध है? आयकर विभाग को इसकी भी जांच करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग ने किस मंत्री के कार्यकाल में गब्बू सिंह को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से करोड़ों रुपये का लाभ पहुंचाया है. इन सभी मामलों की जांच होनी चाहिए.

(इनपुट-न्यूज)