राष्ट्रपति, पीएम, राहुल गांधी, सीएम नीतीश आदि ने व्यक्त किया शोक व्यक्त

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति कोविन्द, पीएम नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार सहित देश के सभी नेताओं ने शोक व्यक्त किया है.

राष्ट्रपति ने अपने शोक संदेश में ट्वीट किया है कि “केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है. उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है. वे वंचित वर्गों की आवाज़ मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे”.

पीएम मोदी ने संदेश ट्वीट किया कि, “मैं शब्दों से परे दुखी हूं. हमारे राष्ट्र में एक शून्य है जो शायद कभी नहीं भरेगा. श्री राम विलास पासवान जी का निधन एक व्यक्तिगत क्षति है. मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी और किसी को खो दिया है, जो हर गरीब व्यक्ति को यह सुनिश्चित करने के लिए बेहद भावुक था कि वह गरिमा का जीवन जीते हैं”.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राम विलास पासवान के निधन पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि “रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है. ग़रीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज़ खो दी. उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएँ”.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री और लोकप्रिय राजनेता रामविलास पासवान के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है.

मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा है कि रामविलास पासवान भारतीय राजनीति के बड़े हस्ताक्षर थे. वे प्रखर वक्ता, लोकप्रिय राजनेता, कुशल प्रशासक, मजबूत संगठनकर्ता और बेहद मिलनसार व्यक्तित्व के धनी थे. वे पहली बार 1969 में बिहार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए थे. 1977 में पहली बार हाजीपुर से लोकसभा के लिए चुने गए थे और उनकी यह जीत वर्ल्ड रिकार्ड में भी दर्ज हुई थी.

मुख्यमंत्री ने रामविलास पासवान से अपने आत्मीय सबंधों की चर्चा करते हुए कहा कि उनसे हमारा बेहद पुराना रिश्ता था. उन्होंने कहा कि उनके निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दुख पहुंचा है. उनका निधन भारतीय राजनीति के लिये एक अपूरणीय क्षति है.

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.