राजद विधायक अनंत सिंह को दूसरे जेल में शिफ्ट करने की तैयारी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सूबे से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. बेउर जेल में बंद मोकामा के दबंग व विधायक अनंत सिंह (Mokama’s Dabang MLA Anant Singh) राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं.

कुछ दिन पहले पटना डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह (Patna DM Dr Chandrashekhar Singh) के नेतृत्व में बेउर केन्द्रीय जेल (raid in Beur Central Jail) में छापेमारी की गई थी. इस दौरान अनंत सिंह के सेल की भी तलाशी ली गई. डिविशन वार्ड में बंद बाहुबली विधायक अनंत सिंह के सेल में रखे बैग से मोबाइल फोन बरामद हुआ है. मोबाइल फोन से सिम कार्ड निकालकर सीडीआर (कॉल डेटा रिकॉर्ड) की जांच की जा रही है.

अब बताया जा रहा है कि अनंत सिंह को पटना की बेउर जेल से भागलपुर केन्द्रीय जेल (Bhagalpur Central Jail) में शिफ्ट किया जाएगा. जिला प्रशासन की ओर से अनंत सिंह को बेउर जेल से शिफ्ट करने की तैयारी अंतिम चरण में है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेल से मोबाइल मिलने की जांच में जुटे पुलिस अधिकारी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाल सकते हैं. जेल गेट पर तैनात हेड वार्डन की संलिप्तता की जांच के तहत यह कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें| फिर हुई सीएम की सुरक्षा में चूक, नालंदा की सभा में युवक ने किया ब्लास्ट

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जेल प्रशासन ने जब जेल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली तो जेल कर्मी जेल के अंदर एक मोबाइल फोन लिए नजर आया. जेल कर्मी जब जेल से बाहर निकल रहे था तो उसके हाथ से मोबाइल फोन गायब था. इसके अलावा फुटेज में कैदी खैनी खिलाते भी नजर आ रहे हैं.

अनंत सिंह को शिफ्ट करने की तैयारी

बता दें, बेउर जेल में कई हाई प्रोफाइल कैदी बंद हैं. मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह भी इसी जेल में बंद हैं. कुछ दिन पहले बिहार की कई जेलों में एक साथ छापेमारी की गई थी. वहीं बेउर जेल में भी छापेमारी की गई. डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह के नेतृत्व में अनंत सिंह के सेल की भी जांच की गई. इस दौरान मोकामा से राजद विधायक के कमरे में रखे बैग से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ. इसके बाद अनंत सिंह को बेउर जेल से भागलपुर जेल भेजने का फैसला लिया गया है. इसकी तैयारी अंतिम चरण में है.

सिम के बारे में चौंकाने वाले खुलासे

जिला प्रशासन द्वारा छापेमारी के दौरान अनंत सिंह के वार्ड में मिले बैग से बरामद मोबाइल की सिम के बारे में पुलिस को अहम जानकारी मिली है. अनंत सिंह के बैग से बरामद यह सिम राजधानी पटना के पुनाईचक इलाके में रहने वाले एक बुजुर्ग के नाम से दर्ज है. हैरानी की बात यह है कि यह बुजुर्ग मानसिक रूप से भी कमजोर है. अब पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर विधायक अनंत सिंह बेउर जेल के अंदर से मानसिक रूप से बीमार एक व्यक्ति के नाम से ली गई सिम का इस्तेमाल कैसे कर रहा था?