जनसंख्या नियंत्रण कानून कड़ाई से हो लागू

पटना (TBN रिपोर्ट) | विश्वभर में प्रत्येक वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य दुनियाभर में लोगों को बढ़ती जनसंख्या के प्रति सचेत करना है. विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की शुरुआत साल 1989 से हुई. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह ने एक बार फिर से जनसंख्या नियंत्रण कानून को लागू करने के लिए कहा है.

गिरिराज सिंह ने विकास के लिए जनसंख्या नियंत्रण को अति आवश्यक बताते हुए कहा है कि कभी जनसंख्या एसेट्स होती है तो कभी लायबिलिटी होती है. लेकिन अब वक्त आ चुका है जब भारत में भी जनसंख्या पर नियंत्रण किया जाना चाहिए.

भाजपा मंत्री गिरिराज सिंह ने विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर भारत में सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की जरूरत बताते हुए कहा है कि देश की समस्या के मूल में सबसे बड़ा कारण बढ़ती हुई जनसंख्या है और दुनिभर में जितने भी देशों ने इस पर नियंत्रण किया वह आज विकसित हो चुके हैं. ऐसी परिस्थितियों में भारत जैसे देश को जनसंख्या नियंत्रण के लिए सख्त कानून बनाने की जरूरत है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि भारत में दिन प्रतिदिन जनसंख्या का विस्फोट होता जा रहा है. इस पर नियंत्रण करने के लिए सरकार को क़ानून बनाने की जरूरत है. भारत की आबादी बहुत तेजी से बढ़ रही है.  दुनियाभर की लगभग 18 प्रतिशत आबादी भारत की हो चुकी है. दुनिया की केवल 2 प्रतिशत जमीन हमारे पास बची है और पानी मात्र 4 प्रतिशत बचा है. भारत में दिन प्रतिदिन पानी का लेयर गिर रहा है.

गिरिराज सिंह ने कहा है कि अगर वर्ष 1979 में चीन के द्वारा जनसंख्या नियंत्रण कानून नहीं लाया गया होता तो आज के समय में चीन में  60 करोड़ आबादी उसके उपर हो सकती थी . चीन के विकास का मूल मंत्र जनसंख्या नियंत्रण कानून है. इसलिए भारत में भी विकास के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून बहुत जरूरी है. बढ़ती आबादी भारत के लिए चुनौती बनती जा रही है. 

आगे उन्होंने कहा कि भारत में जनसंख्या नियंत्रण के लिए कड़ा कानून लाने की बहुत जरूरत है. भारत में सभी धर्मों पर जनसंख्या नियंत्रण कानून कड़ाई से लागू किया जाये. इस विषय को राजनीतिक मुद्दा बनाने की जरूरत नहीं है.