कोरोना और बाढ़ के बीच बिहार में सियासत की लहर

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार में लगातार कोरोना के बढ़ते मामले और बाढ़ की भयावहता के बीच सियासत भी बिलकुल अनलिमिटेड रुप से जारी है. जहां एक ओर सरकार की ओर से हर दिन कोरोना और बाढ़ को लेकर किये जा रहे राहत कार्यों का बखान किया जा रहा है और विपक्ष पर आपदा के बीच राजनीति करने के आरोप लगाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर विपक्ष भी आपदा की इस घड़ी में सरकार पर निशाना साधने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है.

ऐसा कहा जाता है कि देश की राजनीति का रास्ता बिहार से होकर ही जाता है और राजनीति के बिना बिहार की बात करना बेमानी है. मतलब जब भी बिहार का जिक्र होगा यहां की राजनीति और राजनेताओं का जिक्र जरूर होगा. कहीं न कहीं बिहार को लेकर कही यह बात सच ही साबित होती दिख रही है. तभी तो एक ओर जहां बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 30000 हजार के करीब होने को है वहीं दूसरी बिहार के करीब 9 जिले बाढ़ से बेहाल हैं.

लेकिन, इन सबके बीच भी बिहार में सियासत रुकने का नाम नहीं ले रही है. पिछले 15 दिनों से इस तरह बिहार में कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ा है कि लगातार आम लोग, नेता, डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी समेत अन्य लोग इससे प्रभावित हो रहे हैं. पिछले हफ्ते बीजेपी के 75 नेता भी पॉजिटिव हुये. इसके अलावा आरजेडी, जदयू के नेता और उनका परिवार भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि शायद फिलहाल बिहार में राजनीति की रफ्तार को थोड़ा ब्रेक लगे और पक्ष और विपक्ष दोनों मिलकर आपदा की इस घड़ी में राज्य को संभालने का काम करें.

लेकिन, ऐसा होता बिलकुल नहीं दिख रहा है. तभी तो एक ओर बाढ़ प्रभावित जिलों में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, जाप प्रमुख पप्पू यादव लगातार दौरे कर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए सरकार पर निशाना साध रहे हैं और अपनी राजनीति चमकाने में लगे हैं.

वहीं बात करें सत्ताधारी पक्ष की तो बीजेपी और जदयू भी लगातार डिजिटल तरीके से चुनाव की तैयारियों में व्यस्त है और विपक्ष पर निशाना साध राजनीति करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है. पिछले दिनों जब बीजेपी के नेता कोरोना पॉजिटिव हुए तो ऐसा लग रहा था कि शायद अभी चुनाव प्रचार पर थोड़ा ब्रेक लगे, लेकिन बीजेपी नेता ठीक होते ही चुनाव प्रचार में लग गई है. जदयू भी सरकार की योजनाओं का लगातार अलग-अलग माध्यमों से बखान करने में जुटी है. नीतीश कुमार को फिर से बिहार का सीएम बनाने के लिए नए स्लोगन भी तैयार किये गए हैं. डिजिटल रैली और कार्यक्रम की भी योजना बनाई गई है.

बिहार में चल रही राजनीति सिनेमा का आज का ही एक सीन आप भी नीचे वीडियों में देख सकते हैं.

वीडियो ने पहले आपको तेजस्वी यादव नजर आएंगे, इस वीडियो में तेजस्वी दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में कैंप किये हुए हैं और लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं. वहीं वीडियो में आगे आप देखेंगे की किसी तरह तेजस्वी की इस यात्रा पर जदयू नेता अजय आलोक ने तीखा प्रहार किया है और कहा है कि आखिर तेजस्वी को कोरोना संकट के बीच इतनी भीड़ जमा करने और लॉकडाउन में दरभंगा जाने की इजाजत कैसे मिली, उन्होंने खुलेआम सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई हैं और उनपर केस दर्ज होना चाहिए.

Advertisements