बाढ़ ट्रिपल मर्डर का राजनीतिकरण शुरू, आरजेडी व जाप का सरकार पर आरोप

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर कुमार सिन्हा की रिपोर्ट)| शनिवार को बाढ़ शहर में एक शादी समारोह में हुए ट्रिपल मर्डर (Triple Murder in Barh, Patna) के मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद इसका राजनीतिकरण शुरू हो गया है.

एक तरफ जहां आरजेडी (RJD) ने मामले में नामजद अभियुक्तों का सत्ताधारी दल के साथ संबंध होने का आरोप लगाया है वहीं दूसरी ओर जाप (Jan Adhikar Party) ने हत्या मामले में संलिप्त अपराधियों के 17 दिसम्बर तक नहीं गिरफ्तार किए जाने की सूरत में शनिवार 18 नवंबर को अनुमंडल में धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया है.

बाढ़ जिला राष्ट्रीय जनता दल के के अध्यक्ष महेश सिंह ने बुधवार को आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में सरकर पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस हत्याकांड के नामजदअभियुक्त का सत्ताधारी दल के साथ संबंध है. अभियुक्त का एक सांसद, विधायक एवं एमएलसी से नजदीकी होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि इनलोगों के द्वारा पुलिस अनुसंधान को प्रभावित किया जा सकता है.

इस प्रेस कान्फ्रेंस में आरजेडी की ओर से एक अभियुक्त का एक एमएलसी और एक विधायक के साथ की तस्वीर (दी बिहार नाउ इस तस्वीर की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है) जारी किया गया.

महेश सिंह ने मीडिया से कहा कि बिहार में बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था एक गंभीर समस्या बन गई है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त सरकारी कर्मचारी एवं पुलिस पदाधिकारी का एकमात्र कार्य शराब के धंधेबाजों को पकड़ना एवं उन्हें नष्ट करना रह गया है, जबकि राज्य में अन्य समस्याओं, शिक्षा, चिकित्सा एवं बेरोजगारी, राज्य से युवाओं का पलायन, किसानों के लिए खाद और बीज का अभाव आदि समस्याओं को सरकार द्वारा संज्ञान में नहीं लिया जा रहा है.

उन्होंने सरकार से मांग की कि मारे गए नवनिर्वाचित प्रतिनिधि के परिवार को 25 लाख का मुआवजा एवं कम-से-कम परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.

सीबीआई जांच की मांग

महेश सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल सरकार से इस हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की भी मांग करती है क्योंकि इस घटना में नवनिर्वाचित प्रतिनिधि एवं पुलिस पदाधिकारी का एक साथ मारा जाना एवं नामजद अभियुक्त का सत्ताधारी दल के साथ नजदीकी होना पुलिस अनुसंधान को प्रभावित कर सकती है.

वहीं गुरुवार को जाप सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव (Pappu Yadav JAP Supremo) पंडारक थाना क्षेत्र के गोप किता गांव में इस हत्याकांड में मारे गए नवनिर्वाचित मुखिया प्रियरंजन उर्फ गोरेलाल यादव के परिजनों से मिलने पहुंचे. पप्पू यादव ने परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी. साथ ही वहाँ आयोजित एक शोक सभा में पप्पू यादव ने कहा कि अपराधी चाहे जो हो, जिसके भी संरक्षण में रह रहा हो, उसे चैन से रहने नहीं देंगे.

27 दिसंबर को पूरे बिहार में चक्का जाम

पप्पू यादव ने कहा कि 17 तारीख तक अगर सभी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होती है तो 18 तारीख को अनुमंडल में धरना प्रदर्शन किया जाएगा. उसके बाद भी अगर अपराधियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो 27 दिसंबर को पूरे बिहार में चक्का जाम किया जाएगा. जाप पार्टी के बाढ़ जिला कमेटी के अध्यक्ष मनीष कुमार ने कहा कि पार्टी इस हत्याकांड के अभियुक्तों की जदल से जल्द गिरफ़्तारी की मांग करती है.

यह भी पढ़ें| बाढ़ ट्रिपल मर्डर में एक की हुई गिरफ़्तारी, अन्य अभियुक्तों की खोज जारी

उन्होंने कहा कि वे जल्द ही मुख्यमंत्री से समय लेकर मिलनेग और पीड़ित परिवार को सुरक्षा एवं 20-20 लाख मुआवजा देने की मांग करेंगे. साथ में अपराधियों को स्पीडी ट्रायल से सजा दिलाने की मांग करेंगे.

शुक्रवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, जन अधिकार पार्टी द्वारा 17 दिसम्बर को बाढ़ अनुमंडल परिसर में धरना दिया जाएगा. पार्टी की बाढ संगठन इकाई की ओर से पंचायत चुनाव में निर्वाचित सभी प्रतिनिधियों, मुखिया, सरपंच, समिति, वार्ड सदस्य से इस धरने में शामिल होने की अपील की गई है.

बताते चलें, गत शनिवार देर रात शहर के वाजितपुर रोड (Wajitpur road of Barh town) स्थित एक मैंरेज हॉल के पास शादी समारोह में आए पंडारक पूर्वी से निर्वाचित मुखिया प्रियरंजन उर्फ गोरेलाल यादव, पंडारक थाना में पदस्थापित एएसआई राजेश कुमार तथा ममरखाबाद गांव के लालबहादुर नामक व्यक्ति को गोली (newly elected mukhiya of Pandarak East and one ASI of Pandarak police station murdered in Barh Patna) मार दी गई थी. इलाज के दौरान तीनों घायलों की मौत हो गई थी.