PK की ‘सबकी रसोई’, रोजाना इतने लोग खाएंगे खाना, फोन करें

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- बिहार में लॉकडाउन के दौरान गरीबों और जरूरतमंदों की सहायता के लिए राजीनीतिक पार्टियां बढ़चढ़कर हिस्सा ले रही हैं. इसी क्रम में चुनावी रणनीतिकार और राजनीतिज्ञ प्रशांत किशोर ने मदद हाथ आगे बढ़ाया है. प्रशांत किशोर की संस्था इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी ने लॉकडाउन में गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिए ‘सबकी रसोई’ चलाने का फैसला लेते हुए  रविवार 5 अप्रैल से आर्थिक रूप से कमज़ोर लोग जो रोजगार न होने की वजह से मुसीबतों का सामना कर रहे हैं ऐसे सभी लोगों को रोजाना खाना खिलाने का संकल्प लिया है.

 ‘सबकी रसोई’ के बारे में टीम पीके ने शनिवार को एक विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की वजह से कई लोगों भारी संकट से जूझ रहे हैं. लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर आर्थिक रूप से सबसे निचले तबके के लोगों पर पड़ रहा है. प्रवासी मजदूर, दिहाड़ी कामगार और बेघर लोगों पर इसका असर सबसे ज्यादा है. इसको ध्यान में देखते हुए 5 अप्रैल से “सबकी रसोई”  शुरुआत की जा रही है. 10 दिनों के पहले चरण में पटना समेत भारत के 20 से 25 शहरों में कम से कम हर दिन डेढ़ लाख लोगों को भोजन पैकेट पहुंचाया जाएगा. इसके लिए 1000 से अधिक युवा एकजुट होकर कार्यक्रम चलाएंगे और चयन किए गए शहरों में हर रोज लगभग डेढ़ लाख लोगों को भोजन मुहैया करवाएंगे