निर्मली सरायगढ़ रेल महासेतु पर दौड़ी पायलट ट्रेन

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | जनता दल यूनाइटेड (जदयू ) के वरिष्ठ नेता व राज्य के भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने निर्मली सरायगढ़ रेल महासेतु के बारे में बात करते हुए बताया है कि 1934 में दूटा रेल खंड फिर से जुड़ गया है, साथ ही निर्मली सरायगढ़ रेल महासेतु पर पायलट ट्रेन दौड़ने लगी है. आगे उन्होंने बताया कि कोसी नदी का यह पुल मिथिला के दोनों हिस्सों को जोड़ने में अहम योगदान देगा. माँ सीता की धरती के दोनों हिस्से 86 साल के बाद बापस तो साथ आएंगे ही साथ ही यह लाइन पूर्वोत्तर की यात्रा को सुगम करेगी.

इसके बारे में जानकारी साझा करते हुए राज्य के भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने ट्विटर के जरिये बताया कि ;

सड़कों के जाल के साथ रेल पथ में विस्तार राज्य के आवागमन को नया आयाम दे रहा जिससे चहुंओर विकास संभव है. 1934 में जो क्षति हुई थी, उसका पूरा होना अपने-आप में एक ऐतिहासिक अनुभव है.