शर्तों के साथ घर वापसी की मिली मंजूरी, सुशील मोदी ने जताया आभार

पटना (TBN रिपोर्ट) :- देशभर में कोरोना महामारी से बचाव हेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित लॉकडाउन की 21 दिनों की अवधि 14 अप्रैल को समाप्त होने के साथ ही नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक बढ़ाने का फैसला लिया था लेकिन इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान फंसे हुए लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

लॉकडाउन के चलते बिहार के लाखों लोग दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं. लेकिन अब उनके लिए राहत भरी खबर आ रही है मोदी सरकार ने अपने घर से बाहर फंसे लोगों के लिए बड़ा फैसला लिया है.

केंद्र सरकार की तरफ से केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 17 शर्तों के साथ लॉक डाउन के बीच मजदूरों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों और छात्रों सहित अन्य लोगों को मूवमेंट की इजाजत दे दी है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसके लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को गाइडलाइन जारी किया है.

सभी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह निर्देश दिया गया है कि वह बाहर से आने वाले लोगों को लेकर सभी तरह के प्रोटोकॉल का पालन करें.

https://youtu.be/DYJ_aixr2SI

सुशील मोदी ने पीएम का आभार जताया

जैसा कि मालूम है केंद्र सरकार ने लाकडाउन के दौरान राज्य से बाहर फँसे छात्रों, मजदूरों और पर्यटकों को घर लौटने की अनुमति दे दी है. बिहार इसके लिए लगातार मांग कर रहा था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर जोर दिया था.
केंद्र की अनुमति मिलने से लाखों लोग लाकडाउन के नियमों का पालन करते हुए सम्मान और समुचित सुरक्षा के साथ शीघ्र ही अपनों के बीच होंगे. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बिहार की जनता की ओर से प्रधानमंत्री का आभार प्रकट किया है. उन्होंने उन लाखों लोगों का भी आभार व्यक्त किया जिन्होंने किसी राजनीतिक उकसावे में आकर नियमों का उल्लंघन नहीं किया.