अब उठ रहा सवाल – क्या पारस केंद्र सरकार में बनेंगे मंत्री ?

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गुरुवार को एलजेपी के बागी गुट द्वारा पशुपति पारस को अपना राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद अब यह कयास लगाया जा रहा है कि उन्हें मोदी सरकार में मंत्री पद का जिम्मा दिया जा सकता है. सूत्र संकेत दे रहे हैं कि पारस जल्द ही जदयू अध्यक्ष आर सी पी सिंह से मिल सकते हैं.

इसकी तरफ गुरुवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में पारस ने इशारा भी किया. कुछ सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने खुला संकेत दिया कि उन्हें केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है. उन्होंने एक प्रश्न पर मीडिया को बताया कि पार्टी के संविधान के अनुसार एक व्यक्ति एक ही पद पर रह सकता है.

गुरुवार को बागी गुट द्वारा घोषित पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष सूरजभान सिंह के आवास पर बैठक हुई. इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की प्रक्रिया हुई. शाम के लगभग 5:30 बजे पशुपति पारस ने प्रेस कांफ्रेंस कर अपने अध्यक्ष पद पर चुने जाने की जानकारी दी. कार्यकारी अध्यक्ष सूरजभान सिंह के अलावा इस बैठक में पार्टी के सांसद वीणा देवी, महबूब अली कैसर और चंदन सिंह मौजूद थे.

बता दें कि सांसद पशुपति कुमार पारस ने तीन दिन पूर्व अपने भतीजे चिराग पासवान को संसदीय दल के नेता से हटाने की घोषणा के बाद अध्यक्ष पद से हटा दिया था.

आप यह भी पढ़ेंएलजेपी टूट की ओर अग्रसर, पारस बने बागी गुट के राष्ट्रीय अध्यक्ष

एक सवाल के जवाब में पारस ने कहा कि जब मैं मंत्री बनूंगा तो संसदीय दल के नेता के पद से इस्तीफा दे दूँगा. यानि उन्होंने मंत्री पद के स्पष्ट संकेत दे दिए हैं. सूत्रों के अनुसार पशुपति पारस को केन्द्रीय मंत्रिमंडल कोई अहम पद दिया जा सकता है.

उल्लेखनीय है कि केंद्र में मंत्रिमंडल के विस्तार की बात शुरू होने के बाद से ही एलजेपी में चाचा-भतीजे के बीच की इस खींचतान शुरू हो गया था.