दानापुर आंदोलन में गांव वालों के समर्थन में आये पप्पू यादव

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार की राजधानी पटना के पास दानापुर स्तिथ दानापुर आर्मी कैंटोनमेंट देश का दूसरा सबसे बड़ा कैंटोनमेंट है. यहाँ भारतीय सेना की बिहार रेजिमेंट ने चांदमारी में गांव की ओर जाने वाली सडक़ को रोक दिया है. बिहार रेजिमेंट की इस सडक़ की जगह दूसरी वैकल्पिक सडक़ बनाने की योजना थी जो अब तक नहीं बनायी गयी है. सालों से बंद पड़ी सडक़ को लेकर पिछले एक महीने से चांदमारी गांव के लोगों का विरोध-प्रदर्शन जारी है.

चांदमारी गांव में लोगों के विरोध प्रदर्शन का साथ देने के लिए जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव दानापुर के चांदमारी गांव पहुंचे. इस दौरान वहां सडक़ के लिए चल रहे ग्रामीणों के आंदोलन में शामिल होते हुए पप्पू यादव ने कहा कि आज जबरदस्ती भारतीय सेना की बिहार रेजिमेंट द्वारा एक ऐसी सडक़ को बंद किया जा रहा है जो गांव को बाहरी आबादी से जोड़ती है.

जाप अध्यक्ष ने कहा कि गाँव के छात्र इसी सड़क मार्ग से पढ़ाई करने स्कूल जाते हैं,  इसी सड़क से लोग अपने काम पर जाते हैं और अपने घर एवं जरूरत की वस्तुएं खरीदने जाते हैं. इसलिए गांव तक सडक़ जनता का अधिकार है. अगर यह सडक़ नहीं रही तो गांव के लोगों को सामान्य जीवन में रोजाना बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. 

पप्पू यादव ने आगे कहा कि भारतीय सेना मानवता के लिए जानी जाती हैं. भारतीय सेना की वजह से हमारा लोकतंत्र सुरक्षित है. इसके साथ ही जाप अध्यक्ष ने कहा कि हम इस मुद्दे को लेकर चांदवारी गांव के लोगों की आवाज को दबने नहीं देंगे और इस मुद्दे को हम रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पास ले जाएंगे. इस लड़ाई को हम सब साथ मिलकर लड़ेंगे और जीत कर रहेंगे.