शपथ में ‘हिंदुस्तान’ शब्द को लेकर AIMIM विधायक अख्तरुल इमान को आपत्ति

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| नवनिर्वाचित 17वें बिहार विस का पहला सत्र सोमवार को शुरू हुआ. शुरू के दो दिन सभी सदस्यों को शपथ दिलाई जानी है. इसी क्रम में सोमवार को शपथ ग्रहण के दौरान सदन में तब असहज स्थिति उत्पन्न हो गयी जब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक अख़्तरूल इमान (Akhtarul Iman) ने ‘हिंदुस्तान’ शब्द कहने पर आपत्ति कर दी.

अख़्तरूल इमान ने कहा कि शपथ लेने के अलग अलग चार भाषाओं में ‘भारत’ के नाम पर शपथ लेना था और जबकि उर्दू में ‘हिंदुस्तान’ के नाम पर.

नवनियुक्त AIMIM विधायक अख्तरुल इमान ने प्रोटम स्पीकर से इस बारे में आपत्ति जताई और कहा, “शपथ संविधान के अनुसार ली जाती है जिसमें हर जगह ‘भारत’ का उल्लेख होता है. मैं जानना चाहता था कि क्या आज शपथ ग्रहण के दौरान ‘हिंदुस्तान’ कहना ठीक है या मैं ‘भारत’ कहूं. हम कानून बनाने वाले हैं. हमें संविधान को सभी के ऊपर रखना चाहिए”. “मैं अपने देश से प्यार करता हूं,” इमान ने कहा.

जब विधायक ने कहा कि ‘भारत के संविधान की शपथ लेना चाहते हैं ना कि हिंदुस्तान की संविधान की’, तो इस पर प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने आपत्ति जताई. मांझी ने कहा कि यह कोई पहली बार नहीं हो रहा है. यह परंपरा रही है और ‘हिंदुस्तान’ शब्द का इस्तेमाल पहले से होता आ रहा है. लेकिन प्रोटेम स्पीकर की इस बात का एआईएमआईएम विधायक पर कोई असर नहीं पड़ा.

लोगों ने जताई आपत्ति

इमान के इस हरकत पर भाजपा के विधायक प्रमोद कुमार ने आपत्ति जताई. प्रमोद कुमार ने कहा कि ये हमारे देश की बदकिस्मती है जहां लोगों को ‘हिंदुस्तान’ बोलने पर ऐतराज है. ऐसे लोगों को हमारे देश की जनता कभी माफ नहीं करेगी. वहीं कांग्रेस विधायक आनंद शंकर ने भी कहा कि ‘हिंदुस्तान’ शब्द कहने पर किसी को भी ऐतराज नहीं होना चाहिए. इतना ही नहीं, भाजपा नेता व विधायक नीरज कुमार ‘बबलू’ ने कहा कि जिन्हें ‘हिंदुस्तान’ पसंद नहीं वो पाकिस्तान जाए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमान ने उर्दू में शपथ ली. उनके हलफनामे में ‘हिंदुस्तान’ शब्द का संदर्भ था, जिस पर उन्होंने आपत्ति जताई थी. बिहार विधानसभा का उद्घाटन सत्र सोमवार को शुरू हुआ.