नल जल योजना की खुली पोल, सिर्फ कागजों पर मिली योजना

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | मुख्यमंत्री की हाल ही में शुरू हुई नल जल योजना की पोल खुल गई है. नल जल योजना में लूट- खसोट और गड़बड़ी के कई मामले प्रदेश भर से सामने आ रहे हैं. बेतिया में भी नल- जल योजना में भारी अनियमिता पायी गई है. अधिकारियों पर जनप्रतिनिधियों के भ्रष्टाचार में दोषी पाए जाने पर जिलाधिकारी के आदेश पर मुखिया, पंचायत सचिव, जेई, वार्ड सदस्यों के साथ अन्य लोगों पर बीडीओ ने शिकारपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराया गया है.

आपको बता दें कि सरकारी राशि के बंदरबाट का जो मामला नरकटियागंज प्रखण्ड अन्तर्गत राजपुर तुमकड़िया पंचायत में सामने आया है, वहां सभी 27 पंचायतों की योजनाओं में गड़बड़ी और शिकायतों को सरकार और सिस्टम को बेपर्दा करने के लिए काफी है.

पंचायत में नल-जल योजना कागजों पर सिमट कर रह गया है. नली-गली योजना में लाखों की राशि के बंदरबांट और लूट- खसोट को देखकर टीम में शामिल अधिकारी भी दंग रह गए. नल जल योजना फाइलों तक ही सिमट कर रह गई है. यहां अधिकातर पंचायत में नलजल के जांच के दौरान पानी कागज़ों और सरकारी फाइलों पर ही घरों तक मिला.

जानकारों की माने तो प्रखण्ड अंतर्गत सभी नल जल तथा नली-गली योजना में जांच की जाए तो बंदरबांट के खेल सामने आ जाएगा. वही बीडीओ सतीश कुमार ने कहा कि जिलाधिकारी के आदेश पर पंचायत सचिव, मुखिया, जेई, वार्ड सदस्य के साथ अन्य लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कर दिया गया है.