शराबबंदी पर नीतीश का ‘पुष्पा’ स्टाइल, कहा ‘किसी को छोड़ेंगे नहीं’

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी (Chief Minister Nitish Kumar on Prohibition of liquor) को प्रभावी बनाने के अपने फैसले पर अडिग हैं. बुधवार को विधानसभा में ‘पुष्पा’ फिल्म के स्टाइल में नीतीश ने कहा कि हम अगर हैं तो ‘किसी को नहीं छोड़ेंगे’. उनके इस कथन से यह स्पष्ट है कि नीतीश शराबबंदी को प्रभावी बनाने के अपने फैसले पर अडिग है.

बता दें, सोमवार को मद्य निषेध एव उत्पाद विभाग के इस आदेश, शराब पीने वाले अगर शराब बेचने वाले का नाम- पता बताएंगे तो उन्हें जेल नहीं जाना पड़ेगा, के बाद कहा जा रहा था कि नीतीश सरकार (Nitish Sarkar) शराबबंदी (Liquor Prohibition in Bihar) पर अब धीरे-धीरे ढ़ील दे रही है.

बुधवार को सदन में उन्होंने कहा कि किसी के मन में इधर-उधर है तो सावधान हो जाइए. हम जब तक हैं तब तक छोड़ेंगे नहीं. उन्होंने कहा कि ड्रोन, हेलीकॉप्टर उड़ ही रहे हैं अब प्लेन भी उड़वाएंगे लेकिन किसी को छोड़ेंगे नहीं. सीएम ने अपने संबोधन में चार बार “किसी को छोड़ेंगे नहीं” शब्द दोहराया.

गौरतलब है, कुछ ही दिनों पहले नीतीश सरकार ने शराब के ठिकानों का पता लगाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल शुरू किया है. इससे पहले इस काम के लिए खोजी कुत्ते और ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है.

शराब के ठिकानों का पता लगाने के लिए हेलीकॉप्टर के इस्तेमाल पर विपक्ष लगातार राज्य सरकार पर निशाना साध रही है. इस निशाने का जवाब नीतीश कुमार ने बुधवार को बड़े अंदाज में दिया.

यह भी पढ़ें| पटना में IGIMS के मरीजों को रियायती दरों पर मिलेगी दवाएं

उन्होंने सदन में कहा, “शराब पकड़ने के लिए अब ड्रोन से छापेमारी करवा रहे हैं. छोड़ेंगे नहीं हमलोग. जो भी गड़बड़ करने वाले हैं किसी को नहीं छोड़ेंगे. अब सतर्क रहिए, कहीं ऐसा नहीं कि कुछ इधर-उधर मन में हो. छोड़ेंगे नहीं हम. हम अगर हैं भाई तो किसी को नहीं छोड़ेंगे. अब ड्रोन से भी शुरू कर दिया है. अब एरियल भी, ड्रोन भी लगा है. प्लेन भी उपाय करवा रहे हैं”.

बताते चलें, बुधवार को सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान नीतीश ने विपक्ष के सभी सवालों का जवाब दिया. अपराध के मामले पर जब नीतीश ने 2005 और 2020 का तुलनात्मक डाटा पेश करना शुरू किया तो इसपर विपक्ष हंगामा करने लगा. वहीं कब्रिस्तान की घेराबंदी का भी डाटा उन्होंने सदन में दिया. इस बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ दूसरे विपक्षी दल के सदस्य सदन से वॉकआउट कर गए. अंत में नीतीश कुमार ने सरकार का पक्ष सामने रखते हुए शराबबंदी पर पुष्पा फिल्म के स्टाइल में बोलना शुरू किया.