आरजेडी के राज में सड़कों की हालत कितनी अच्छी थी सबको पता है – नीतीश

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्य में दो विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को होने जा रहे उप-चुनाव (Bihar Assembly By-Election 2021) को लेकर सभी पार्टियां ने पूरी ताकत झोंक दी है. सत्तारूढ़ और विपक्ष की पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगाने के साथ दोनों सीटें जीतने के दावे ठोंक रही हैं.

आरोपों की कड़ी में आरजेडी (RJD) ने नीतीश सरकार (Nitish Government) पर कुशेश्वरस्थान (Kusheshwarsthan Assembly Seat) विस क्षेत्र में सड़कों की खराब हालत को लेकर नीतीश सरकार को घेरा है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने चुनाव प्रचार के दौरान लगातार सड़कों के खराब होने का दावा किया है.

राजद के दावे पर मुख्यमंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि आरजेडी के राज में पहले सड़कों की हालत कितनी अच्छी थी यह सबको पता है. नीतीश सोमवार को कुशेश्वरस्थान और तारापुर (Tarapur Assembly Seat) में चुनावी जनसभा को संबोधित करने के बाद पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि बिहार में सिर्फ सड़कों का निर्माण ही नहीं हो रहा बल्कि उनके मेंटेनेंस भी किये जा रहे हैं. इसको लेकर पॉलिसी बना दी गई है. बाढ़ से बचाव एवं अतिवृष्टि से हुयी फसल क्षति को लेकर काफी काम किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें| उपचुनाव में एनडीए को मिल रहे रिस्पांस का एसेसमेंट करना पत्रकारों का काम – नीतीश

नीतीश ने राजद पर उलट वार करते हुए कहा कि वे लोग अपने शासन के दौरान की स्थिति देख लें. पहले बाढ़ एवं सुखाड़ में लोगों को मदद नहीं मिलती थी. उन्होंने कहा कि बोलने से पहले लोग पहले की स्थिति को याद कर लें. अभी बिहार में क्षेत्र में काम हो रहा है तो वे लोग टिप्पणी कर रहे हैं, पहले कैसी स्थिति थी इसके बारे में जनता को बतायें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बिहार में सड़क और बिजली की क्या स्थिति थी? यह सबको पता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बिहार में मात्र 700 मेगावाट बिजली की आपूर्ति होती थी, अभी साढ़े 6 हजार मेगावाट बिजली की आपूर्ति हो रही है. मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुये कहा कि पहले कितनी अधिक बिजली की आपूर्ति होती थी. अब कितनी कम आपूर्ति हो रही है.