नीरज कुमार का तेजस्वी पर फिर हमला, कहा देहव्यापारी को दी थी नौकरी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के लिए प्रचार प्रसार आज शाम से बंद हो गया है. सभी पार्टियां ने एक आखिरी बार जनता के बीच जा कर अपने विपक्षी दलों पर बड़े बड़े बयान दिए हैं. इसी कड़ी में गुरुवार को एक बार फिर जदयू नेता और मंत्री नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव पर बड़ा हमला बोला.

मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि ‘जंगलराज के युवराज’ तेजस्वी यादव के सिपहसलारों का चरित्र देखिए. एक मणि यादव है, जो अनैतिक देह व्यापार अधिनियम का आरोपी है, फिर भी तेजस्वी ने उसे निजी सहायक के रूप में 2020 तक पदस्थ किया हुआ है. इतना ही नहीं तेजस्वी उन्हें सरकारी खजाने से वेतन भी दिला रहे हैं.

मंत्री यहीं नहीं रूके और उनके रोजगार देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिस दस्तखत से वो दस लाख लोगों को रोजगार देना चाहते हैं क्या उनका दस्तखत निजी सहायक के लिए नहीं हुआ. वो नेता प्रतिपक्ष हैं और उनके दस्तखत से एक निजी सहायक रखने का प्रावधान था तो उन्होंने कैसा उदाहरण युवाओं को पेश किया है.

मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि बिहार की जनता तय करे कि महिला अपराध के लोगों को प्रतिष्ठित करना है या महिला सुरक्षा देने वाले को सत्ता सौंपनी है. उन्होंने कहा कि राजद की पूरी राजनीति, राजद की गुंडों के हवाले हैं. इसका उदाहरण लोकसभा चुनाव में तब देखने को मिला, जब उन्होंने अपराधियों को टिकट देने से खुद को नहीं रोका. ये जनता तय करे कि बिहार के अंदर में किसका राज होगा. जेल में बैठे कैदी का या कानून राज चाहिए.

प्रधानमंत्री के पैकेज पर पूछे गए सवाल पर मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि पहले कांग्रेस के नेता बताएं जब 1989 में राजीव गांधी ने पैकेज का एनाउंस किया था तो वो पैसा कहां गया. हमने जो काम किया है, उसका एहसास बिहार की जनता को है. वहीं महिलाओं के सवाल पर कहा कि दूसरे चरण के मतदान में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी. नीतीश कुमार ने पंचायती राज में आरक्षण दिया है, उसका लाभ महिलाओं को मिला है.