“मेरा नाम ही रामचन्द्र है, मैं किसी का हनुमान नहीं” – आरसीपी

जमुई / पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कभी नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के अत्यंत करीबी रहे आरसीपी सिंह (RCP Singh) ने कहा है कि वो “नीतीश कुमार के हनुमान नहीं हैं, बल्कि वे खुद रामचन्द्र हैं”. मीडिया के तीखे सवाल पर बौखला कर आरसीपी ने यह बात कही.

जमुई में केन्द्रीय मंत्री आरसीपी सिंह से जब मीडियाकर्मियों ने तीखे सवाल – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ललन सिंह (Lalan Singh) को काफी तरजीह दी, आपकी कुर्सी वो लेंगे क्या? आप जेडीयू में हैं न? बंगला क्यों खाली कराया गया? सीएम नीतीश कुमार से इतनी बेरुखी क्यों है? – किए तो वे बौखला गए. उन्होंने कहा कि ये जो सवाल आप पूछ रहे हैं, ऐसा पूछने के लिए जिसने भी भेजा है. उसी से जवाब भी ले लीजिए .

एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने जमुई आए केन्द्रीय मंत्री आरसीपी सिंह से जब मीडियाकर्मी ने पूछा कि चिराग पासवान को पीएम मोदी का हनुमान कहा जाता है, ठीक वैसे ही आपको भी नीतीश कुमार का हनुमान कहा जाता है …., इसपर वे भड़क गए और कहा कि मैं किसी का हनुमान नहीं, मेरा नाम खुद रामचंद्र है. सुधार लीजिए इसको.

जब उनसे पूछा गया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आपकी इतनी बेरुखी क्यों है, तो उन्होंने पत्रकार की तरफ ही इशारा करते हुए कह दिया कि ये तो आप जानते होंगे.

बता दें, जमुई में एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने आए केन्द्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के साथ जमुई के पार्टी जिलाध्यक्ष तक नजर नहीं आए. उनके साथ सिर्फ झाझा के जदयू विधायक दामोदर रावत दिखे.

मीडिया ने जब आरसीपी सिंह से कहा कि आप तो जेडीयू के आधार माने जाते रहे हैं. इसको लेकर उन्होंने कहा कि मैं तो नहीं जानता, मैं किसी संगठन का आधार नहीं. मैं सिर्फ सिंपल आदमी हूँ.

वहीं, बंगला खाली कराने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कि वो मेरा नहीं था, वो तो संजय गांधी के घर में रहते थे और उनका घर मुस्तफापुर मालती है.

जब उनसे एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के नामांकन के दौरान पीएम मोदी द्वारा जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुंगेर सांसद ललन सिंह को तरजीह दिए जाने पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि मैं यहां दूसरे काम से आया हूं.

अंत में उन्होंने पत्रकारों पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि जो सवाल आप पूछ रहे हैं, ऐसा पूछने के लिए जिसने भी भेजा है, उसी से जवाब भी ले लीजिए जाकर. इसके बाद आरसीपी सिंह जमुई से रवाना हो गए.