मेरी किताब हिंदू-मुस्लिम एकता के लिए है; जो लोग राजनीति करना चाहते हैं, करेंगे: सलमान खुर्शीद

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| अपनी हालिया किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ (Sunrise Over Ayodhya) को लेकर उठे विवाद के बीच कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद (former union minister Salman Khurshid) ने शुक्रवार को कहा कि अपनी किताब में वह बात उन्होंने हिंदू-मुस्लिम एकता (Hindu-Muslim unity) को बढ़ावा देने और लोगों को यह समझाने के लिए लिखी कि अयोध्या रामजन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court verdict) द्वारा सुनाया गया फैसला एक अच्छा फैसला था.

खुर्शीद ने मीडिया से कहा, “जो कोई राजनीतिकरण करना चाहता है, वह ऐसा करेगा और जो कोई किताब लिखना चाहता है, वह लिखेगा. मेरी किताब हिंदू-मुस्लिम एकता के लिए है और लोगों को यह समझाती है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला (अयोध्या पर) एक अच्छा फैसला है.”

सलमान खुर्शीद ने कहा, “मेरी किताब हिंदु और मुस्लिम को एक करने के लिए है. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को लोगों को समझाना है कि ये अच्छा निर्णय है.. आई हम लोग एक साथ जुड़ें. जो लोग धर्म का दुरुपयोग करते हैं उनको हम रिजेक्ट करे. राजनीति करने वाले को डर लग रहा है कि सच्चाई सामने आ जाएगी.

इससे पहले बुधवार को, पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद अपनी हालिया पुस्तक “सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स” (Sunrise Over Ayodhya: Nationhood in Our Times) में कथित रूप से “हिंदू धर्म को बदनाम करने और आतंकवाद से तुलना करने” के कारण विवादों में फंस गए.

बता दे, अयोध्या फैसले पर खुर्शीद की किताब पिछले हफ्ते जारी की गई थी. इसमें अयोध्या विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले पर टिप्पणी की गई है. इसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खुर्शीद ने हिंदुत्व (Hinduism) की तुलना “आईएसआईएस (ISIS) और बोको हराम (Boko Haram)” जैसे कट्टरपंथी आतंकवादी समूहों से की है.

यह भी पढ़ें | बाढ़ एनटीपीसी की यूनिट में वाणिज्यिक उत्पादन शुरू

इधर पुस्तक के अपवाद पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए, भारतीय जनता पार्टी भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने शुक्रवार को कहा कि हिंदू धर्म पर कांग्रेस पार्टी का हमला एक संयोग नहीं बल्कि एक प्रयोग है. उन्होंने आरोप लगाया कि जब भी मौका मिलता है, कांग्रेस का स्वभाव हिंदू धर्म पर हमला करना है.

इस बीच, दिल्ली के दो वकीलों ने सलमान खुर्शीद के खिलाफ अपनी किताब में हिंदू धर्म की कथित रूप से बदनामी करने और आतंकवाद से तुलना करने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) में शिकायत दर्ज कराई है. यह मामला ऐसे समय में आया है जब देश के सात राज्यों गोवा (Goa), मणिपुर (Manipur), पंजाब (Punjab), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), उत्तराखंड (Uttarakhand), हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) और गुजरात (Gujarat) में वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं.