मोकामा विधानसभा उपचुनाव: दो बाहुबली की पत्नियों में घमासान

मोकामा / बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| बिहार की राजनीति (Bihar’s politics) और चुनाव पैसे समेत बाहुबल से अछूते नहीं हैं. इसकी बानगी बिहार में होने वाले उपचुनाव में भी देखने को मिल रही है.

मोकामा में होने वाले विधानसभा उपचुनाव (Mokama Assembly by-election 2022) में एक बार फिर धन और बाहुबल की जीत होगी क्योंकि उस क्षेत्र के दो बाहुबलियों की पत्नी मैदान में उतर चुकी है. इस चुनाव में छोटे सरकार (Chhote Sarkar) से मशहूर बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) की पत्नी उम्मीदवार के रूप में मैदान में हैं, क्योंकि अनंत सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद यह सीट खाली हुई थी.

मैदान में एक तरफ अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी (Neelam Devi) तो दूसरी तरफ ललन सिंह की पत्नी सोनम देवी (Sonam Devi) हैं. नीलम देवी के बारे में कहा जा रहा है कि उनका टिकट महागठबंधन (Grand Alliance) यानी राजद (RJD) से फिक्स है, वहीं बीजेपी ने बाहुबली कार्ड खेल रही ललन सिंह की पत्नी सोनम देवी को भी मैदान में उतारा है.

चुनाव से पहले, सोमवार को ललन सिंह और सोनम देवी भाजपा कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने अपनी जीत का दावा किया. उन्होंने कहा कि जनता उनके साथ है और इस कारण वे बाहुबली नहीं हैं. ललन ने कहा कि मोकामा के साथ देश की जनता को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर भरोसा है. इसलिए सोनम देवी की जीत पक्की है.

मोकामा में पहले से ही बाहुबली नेताओं का दबदबा रहा है. यहां चुनाव में जीत उसी की होती रही है जिसके पास बाहुबल और धनबल रहता है. वैसे तो भाजपा बाहुबलियों से बचती रही है लेकिन इस बार मोकामा विधानसभा चुनाव में उसने भी बाहुबली का इस्तेमाल करते हुए स्थानीय बाहुबली ललन सिंह की पत्नी को टिकट दिया.

इसे भी पढ़ें| मोकामा: विधानसभा उप-चुनाव के पहले पुलिस पदाधिकारियों का तबादला

हालांकि अनंत सिंह को राजद की ओर से टिकट दिया जा रहा है, ऐसे में महागठबंधन सरकार में सहयोगी पार्टी जदयू (JDU) इस पूरे मामले पर ज्यादा बात करने से बचती नजर आ रही है. जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा (JDU state president Umesh Kushwaha) ने कहा कि जो भी उम्मीदवार होगा, जीत महागठबंधन की होगी.

इधर, पूर्व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (Former Deputy CM Tarkishore Prasad) ने मोकामा उपचुनाव में बाहुबली ललन सिंह की पत्नी को टिकट देने पर कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने पहली बार मोकामा से अपना उम्मीदवार उतारा है. तारकिशोर ने कहा कि पार्टी ने मोकामा के वोटरों के मिजाज को ध्यान में रखते हुए अपना उम्मीदवार उतारा है. इस बार यहां की जनता के साथ साथ बीजेपी कार्यकर्ताओं को पहली बार ‘कमल के फूल’ पर मुहर लगाने का मौका मिलेगा.