जनता के बीच जाकर सरकार के इस कुकृत को करेंगे उजागर – महेश

बाढ़ (TBN – अखिलेश कु सिन्हा रिपोर्ट)| आरजेडी पार्टी ने 11 जून को अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Laloo Prasad Yadav) के जन्मदिवस को “सद्भावना दिवस” (Sadbhavna Diwas) के रूप में मनाने का ऐलान किया है. बुधवार को बाढ़ अनुमंडल के बाढ़ थाना क्षेत्र स्थित राजद कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कहा गया.

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए बाढ़ जिला कमेटी राजद के अध्यक्ष महेश प्रसाद सिंह ने कहा की 11 तारीख को गरीबों के मसीहा एवं राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्षलालू यादव के जन्मदिवस को सद्भावना दिवस के रूप में मनाया जाएगा और इस अवसर पर गरीबों को भोजन कराया जाएगा.

सरकार किसानों के बीच फैला रही है भ्रम

सिंह ने कहा कि 11 जून से पार्टी गरीब लोगों के साथ मिलकर नीतीश सरकार के नाकामियों को उजागर करेगी क्योंकि पार्टी फिर से एक लंबी लड़ाई के लिए तैयार हो चुकी है. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के साथ डीएपी खाद (DAP fertiliser) मामले में धोखा कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने डीएपी खाद का प्रति बैग मूल्य 1200 रु से बढ़ा कर 2400 रु कर दिया. फिर उसपर 1200 रु की सब्सिडी देने की बात बताकर किसानों के बीच भ्रम फैला रही है. सिंह ने कहा, मेरा मानना है कि यह लूट की एक सोची-समझी साजिश है जिसमें पूँजीपतियों को लूटने का एक अवसर प्रदान किया जा रहा है. यदि सही में किसानों को सब्सिडी दी जाती तो डीएपी खाद का प्रति बैग मूल्य शून्य हो जाता.

महेश सिंह ने आरोप लगते हुए कहा कि सरकार किसी न किसी रूप में पूँजीपतियों के हाथों देश को लुटा रही है और देश के संसाधन का दुरुपयोग कर रही है.

सरकार ने कोरोना से मृत व्यक्तियों के सही आंकड़े को छुपाया

महेश सिंह ने नीतीश सरकार पर जमकर आरोपों की बारिश की. उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार के मुखिया नीतीश कुमार ने घोषणा किया था कि कोरोना से मृत व्यक्ति को 4 लाख रुपये का मुआवजा बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा दिया जाएगा. सिंह ने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि सरकार द्वारा कोरोना से मृत व्यक्तियों के सही आंकड़े को ही छुपा दिया गया.

सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना काल में सरकार की नीतियां स्पष्ट नजर आई जहां पीएमसीएच या एनएमसीएच में कोरोना से मारे व्यक्तियों का तो लिस्ट में नाम है परंतु प्राइवेट अस्पताल में मरे लोगों की सूचना उसमें नहीं है. इसका मतलब है कि सरकार किसी न किसी रूप में जनता को छलने का काम कर रही है.

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है जब हमें जनता के बीच जाकर सरकार की नाकामियों को उजागर किया जाए. हमलोग जनता के बीच जाकर सरकार के इस कुकृत को उजागर करेंगे और सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करेंगे.

बता दें कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव का 74 वां जन्मदिन 11 जून को. पार्टी ने आरजेडी सुप्रीमो के 74वें जन्मदिन को लेकर तैयारी शुरू कर दी है. तीन सालों बाद लालू यादव इस बार जन्मदिन के मौके पर अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहेंगे. पार्टी ने उनके जन्मदिन पर राज्य भर में “लालू की रसोई” (Laloo Ki Rasoi) के तहत गरीबों को खाना खिलाने की योजना बनाई है.