मीडिया और सोशल मीडिया में क्वारंटाइन सेंटर पर खर्च की खबरें गलत

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बीच बाहरी राज्यों से लोगों का आना लगातार जारी है इसके साथ ही अन्य राज्यों से लौटकर आये लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है.

बिहार सरकार के द्वारा क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले लोगों के लिए सारी सुविधायें दी जा रही हैं लेकिन इसके बावजूद भी राज्य के अधिकांश जिलों से केंद्र पर बुरी व्यवस्था को लेकर खबरें आये दिन सामने आ रही है, जैसे प्रवासी मजदूरों को भोजन एवं अन्य जरूरी सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं.

हाल ही में मीडिया और सोशल मीडिया से खबरें निकल कर आयी थी कि सरकार के द्वारा प्रति व्यक्ति 3000 रू दिए जा रहे हैं. इस मामले पर आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से सफाई देते हुए आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय-अमृत ने सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव को पत्र लिखा है.

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ने अपने पत्र में कहा है कि सोशल मीडिया के द्वारा कई जिलों के डीएम ने बताया है कि आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा तय की गई दर से संबंधित सूचना वायरल हो रही है. लेकिन हकीकत यह है कि आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की गई है .यह पूरी तरह से गलत सूचना है.