सामाजिक-राजनीति क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये राजीव को ‘मौलाना अब्दुल कलाम आजाद अवार्ड’

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता और ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ़्रेंस (जीकेसी) के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद को ‘मौलाना अब्दुल कलाम आजाद अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है. उन्हें यह सम्मान सामाजिक और राजनीति के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये ऑल इंडिया उलमा बोर्ड के सौजन्य से प्राप्त हुआ.

ऑल इंडिया उलमा बोर्ड के सौजन्य से राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली के ग़ालिब ऑडिटोरियम में ‘मौजूदा हालात और मुसलमान, विषय पर एक सम्मेलन का आयोजन किया गया था. इस सम्मलेन में विभिन्न क्षेत्र के पारंगत एवं प्रतिष्ठित लोगों ने शिरकत की और उपरोक्त विषय पर वार्ता की.

जदयू नेता और जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद को सामाजिक क्षेत्र और राजनीतिक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान को देखते हुये ‘मौलाना अब्दुल कलाम आजाद अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है. ऑल इंडिया उलमा बोर्ड की ज्यूरी ने राजीव को चुना जिसमें शाही ईमाम दिल्ली मौलाना नियाज़ अहमद कासमी, शमशुल उलमा मौलाना सैयद अतहर अली अशरफी मुम्बई, सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट अमजद खान, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मौलाना डॉ सऊद आलम क़ासमी एवं मशहूर शायरा सुश्री लता हया शामिल थी.

Also Read | तुलसीदास सम्मान से सम्मानित हुए आईएएस राजेश्वर सिंह

इस आयोजन में राजीव रंजन प्रसाद को विशेष अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया था. आयोजन के दौरान सभी उपस्थित महानुभावों को उनके द्वारा किये गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया गया.

राजीव रंजन प्रसाद ने ‘मौलाना अब्दुल कलाम आजाद अवार्ड’ मिलने पर हर्ष व्यक्त करते हुये कहा कि 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इस सम्मान का पाना मेरे लिये सोने पे सुहागा की तरह है. समाज में नि:स्वार्थ भाव से योगदान देना मेरे व्यक्तित्व और मेरे समाज का अभिन्न अंग रहा है. ‘मौलाना अब्दुल कलाम आजाद अवार्ड’मेरे हौसले और जज्बे को बुलंद कर रहा है. मैं आप सब का तहे दिल से शुक्रगुजार हूँ और आप सब से यह वादा करता हूँ कि मेरी हर कोशिश रहेगी कि इस सम्मान की गरिमा बरकरार रखूँ और अपने नेतृत्व से समाज को भावनात्मक एवं सकारात्मक रूप से जोड़ता रहूं.