मांझीजी को अब आराम करके राम-राम जपना चाहिए, तभी होगा बेड़ा पार – नीरज सिंह बबलू

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| ब्राह्मणों और हिन्दू धर्म को लेकर दिए गए विवादित बयान ने एक तरफ जहां हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) को विवादों में ला खड़ा किया है, वहीं दूसरी ओर यह नया रंग लेने लगा है.

मांझी के विवादित बयानों ने बीजेपी और ‘हम’ के नेताओं के बीच एक जुबानी जंग को शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में बिहार सरकार में वन एवं पर्यावरण मंत्री नीरज कुमार सिंह बबलू (Neeraj Kumar Singh Bablu) ने मंगलवार को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान (Danish Rizwan) पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए बोल रहे हैं.

मंत्री ने कहा, ऐसा नहीं है कि एनडीए की सरकार सिर्फ उनके (हम) चार विधायकों से ही चल रही है. एनडीए के समर्थन से बिहार में सरकार चल रही है और एनडीए एक जुट है. उन्होंने कहा, “खुद जीतन मांझी के लड़के मंत्री हैं, सरकार चला रहे हैं”.

यह भी पढ़ें| बिहार में शराबबंदी कानून को सीजेआई ने बताया ‘अदूरदर्शी’ फैसला, विपक्ष हुआ हमलावर

नीरज बबलू ने कहा- “मैंने मांझी जी के बारे में बिल्कुल सही बात कही है. मांझीजी को आराम करना चाहिए. आराम करके राम-राम जपना चाहिए ताकि उनका बेड़ा पार लगेगा. राम ही बेड़ा पार लगाएंगे. जो राम को नहीं मानते हैं उनको नर्क में जाना पड़ता है.” नीरज बबलू ने आगे कहा कि जीतन राम मांझी की उम्र हो गई है. रिटायरमेंट की उम्र हो गई है.

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान पर उन्होंने कहा कि उन पर हम क्या बोलें, छोटा मुंह बड़ी बात हो जाएगी.

उपेंद्र कुशवाहा के बीफ खाने की आजादी वाले बयान को लेकर नीरज ने कहा कि वो बोल रहे हैं तो पहले उनको बीफ खाना चाहिए. बीफ खाकर जनता के बीच जाएं और देखें कि जनता क्या रिस्पॉन्स देती है.

नीरज ने कहा कि जीतन राम मांझी एनडीए के नेता हैं और आगे भी रहेंगे, लेकिन उनके उम्र का असर दिख रहा है. अब वे सारा कार्यभार अपने बेटे को दें. बेटा भी मंत्री है, सरकार चला रहे हैं, अच्छी बात है. अब वे बेटे को आशीर्वाद दें.’