दिग्विजय सिंह के खिलाफ एनआईए जांच के लिए गृहमंत्री को लिखा लेटर

भोपाल (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) अनुच्छेद 370 (Article 370) पर बोलकर घिरते नजर आ रहे हैं. उनके खिलाफ मध्यप्रदेश बीजेपी ने एनआईए (NIA) जांच के लिए देश के गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी है.

इससे पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने क्लब हाउस (Club House Chat) पर चैट के दौरान कथित तौर पर कहा था कि अगर कांग्रेस सत्ता में लौटी तो जम्मू कश्मीर में धारा 370 बहाल की जाएगी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता द्वारा धारा 370 को ले कर दिए इस बयान पर जम्मू-कश्मीर समेत मध्यप्रदेश बीजेपी के नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. एक दावे के अनुसार, इस चैट में एक पाकिस्तानी पत्रकार भी मौजूद था.

एक तरफ जम्मू कश्मीर के पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंदर गुप्ता (Kavinder Gupta) ने कहा कि दिन में सपने देखना कांग्रेस की पुरानी आदत है. उन्होंने कहा कि “न नौ मन तेल होगा और ना राधा नाचेगी”. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह इस बयान से देश में गड़बड़ी फैलाना चाहते हैं और यह नकारात्मक राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि धारा 370 को जम्मू कश्मीर से कानूनी ढंग से हटाया गया.

वहीं शनिवार को मध्यप्रदेश बीजेपी ने भी दिग्विजय की टिप्पणी के लिए उनकी जमकर आलोचना की है. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी पर पाकिस्तान की भाषा बोलने का आरोप लगाया है.

आप यह भी पढ़ेंइतना गेहूं अधिप्राप्ति बिहार के लिये एक बड़ी उपलब्धि है – मुख्यमंत्री

उधर मध्यप्रदेश बीजेपी के चीफ व खजुराहो के सांसद विष्णु दत्त शर्मा (Vishnu Dutt Sharma) ने तो दिग्विजय सिंह की गतिविधियों की एनआईए (NIA) से जांच कराने की मांग कर दी है. उन्होंने शनिवार को इस बावत देश के गृहमंत्री (Home Minister) अमित शाह (Amit Shah) को चिट्ठी लिखी है.

शर्मा ने अपने इस चिट्ठी में लिखा है कि “राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह कई जिम्मेदार पदों पर रह चुके हैं. लेकिन इसके बावजूद वे देशविरोधी ताकतों के साथ खड़े रहते हैं. उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस की क्लब हाउस चैट में पाकिस्तानी पत्रकार के सवाल के जवाब में दिग्विजय सिंह ने जो कहा वह देश विरोधी षडयंत्र का हिस्सा है”.

आप यह भी पढ़ें कोविड-19 संबंधित सामानों पर टैक्स कटौती का फैसला, एंबुलेंस पर 12%, वैक्सीन पर 5% जीएसटी

शर्मा ने कहा कि इसके पहले मार्च 2019 में भारत की ओर से पाकिस्तान पर की गई एयर स्ट्राइक के बाद उन्होंने सबूत भी मांगा था. इतना ही नहीं, मुंबई में हुए 26/11 हमले को लेकर उन्होंने शहीद हेमंत करकरे की शहादत को विवादित करने के लिए इसका ठीकरा आरएसएस पर फोड़ा था.

शर्मा ने आगे कहा कि बाटला हाउस (Batla House matter) के मामले में दिग्विजय सिंह ने आतंकवादियों के घर जाकर अपनी सहानुभूति प्रगट की थी. वह हमेशा देश विरोधी ताकतों के साथ खड़े दिखाई देते हैं. आज की घटना देश की एकता-अखंडता के लिए खतरा है. ऐसे में एनआईए को दिग्विजय सिंह के पाकिस्तान संबंध की जांच करनी चाहिए.