कोरोना जांच को लेकर CM को घेरा

पटना (TBN रिपोर्ट) | राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से बिहार में कोरोना जांच को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि कोरोना काल में देश की सबसे अक्षम बिहार सरकार 12 करोड़ बिहारियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है.

तेजस्वी यादव ने कहा है कि चार महीने बाद भी बिहार कोरोना जाँच में सबसे पीछे है. संक्रमण बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है. कोई नया कोविड अस्पताल नहीं बन पाया, ना ही रैंडम sampling हो रही है. सरकार ने जाँच नहीं तो केस नहीं का फ़ॉर्म्युला अपना रखा है.

राजद नेता ने कहा है कि हमने शुरू से ही आगाह किया कि जाँच की गति और दायरा बढ़ाया जाए. सीएम ने वादा किया कि 10 हज़ार जाँच प्रतिदिन किए जाएँगे. मुख्यमंत्री जी ने कुछ हफ़्ते पहले PM को 20 हज़ार जाँच करने का भरोसा दिलाया. हक़ीक़त ये है कि बिहार जैसे प्रदेश में आज भी औसत जाँच 5 हज़ार से कम है. आपदाकाल में झूठ बोलना महापाप है.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि कम जाँच करने के पीछे सीएम की मंशा कम संक्रमण दिखाने की है लेकिन इससे ख़तरा आमजनों को है. आँकड़ो की बाज़ीगरी से सरकार वास्तविकता छुपा सकती है लेकिन विस्फोटक होती स्थिति को काबू करने का कोई उपाय नहीं है. बिहार में कुल जाँच में पॉज़िटिव मरीजों का प्रतिशत 4.48 है जो कि ख़तरे की घंटी है.