जानिए इस बार विधान परिषद चुनाव में किस प्रत्याशी के खिलाफ कितने मामले हैं दर्ज

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार विधान परिषद की 24 सीटों पर होने वाले चुनाव (Bihar Legislative Council election 2022) के लिए सभी राजनीतिक दलों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. स्थानीय सत्ता के लिए विधान परिषद के चुनावों में धनबल और बाहुबल भी हावी है.

इस चुनाव में सभी राजनीतिक दलों ने ऐसे सभी उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है जिनके खिलाफ कई गंभीर मामले (serious cases registered against candidates) दर्ज हैं. चुनाव आयोग (Election Commission, Bihar) के सख्त निर्देशों का पालन करते हुए राजनीतिक दलों ने सोशल मीडिया पर अपने उम्मीदवारों के मामलों से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक की हैं.

राजद के अधिकतर उम्मीदवारों पर केस दर्ज

राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal, RJD) ने विधान परिषद चुनावों में सबसे अधिक उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. 24 में से 23 सीटों पर राजद उम्मीदवार मैदान में हैं. इन उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामलों की बात करें तो 23 में से 19 उम्मीदवार गंभीर से लेकर गंभीर आरोपों का सामना कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें| नीतीश ने कहा शराबी हैं महान पापी, वे हिंदुस्तानी नहीं

पूर्वी चंपारण से राजद प्रत्याशी राजेश कुमार उर्फ ​​बबलू देव के खिलाफ पांच मामले दर्ज हैं. गया से राजद प्रत्याशी कुमार नागेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. सीवान के प्रत्याशी विनोद कुमार पर दो, भोजपुर प्रत्याशी अनिल सम्राट पर एक, पूर्णिया के अब्दुस सुभान पर एक, वैशाली के सुबोध कुमार पर सात, पश्चिम चंपारण के राजद प्रत्याशी सौरभ कुमार पर चार, मुजफ्फरपुर के द्वार शंभू कुमार पर हत्या समेत छह मामले गंभीर धाराओं में दर्ज हैं..

वहीं कटिहार के कुंदन कुमार के खिलाफ एक, समस्तीपुर के रोमा भारती के खिलाफ दो, बेगूसराय के मनोहर कुमार यादव के खिलाफ चार, पटना के कार्तिक कुमार के खिलाफ चार, मुंगेर के अजय सिंह, नालंदा के वीर मणि कुमार के खिलाफ छह मामले हैं. उसके खिलाफ दर्ज है। इसके अलावा मधुबनी के मोहम्मद मेराज के खिलाफ छह, रोहतास के कृष्ण कुमार, नवादा के श्रवण कुमार के खिलाफ एक मामला दर्ज है.

जदयू के 7 उम्मीदवारों पर केस दर्ज

जनता दल यूनाइटेड (Janata Dal United, JDU) ने विधान परिषद चुनाव में 11 उम्मीदवार खड़े किए हैं, जिनमें से सात पर उनके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं. गया की प्रत्याशी मनोरमा देवी के खिलाफ सामान्य से लेकर गंभीर धाराओं में तीन मामले दर्ज हैं. भागलपुर के विजय कुमार सिंह पर तीन, भोजपुर के राधाचरण शाह के खिलाफ दो, मुजफ्फरपुर के दिनेश प्रसाद सिंह के खिलाफ तीन, नवादा के सलमान रागीब के खिलाफ तीन, मधुबनी के विनोद सिंह के खिलाफ दो मामले, पश्चिमी चंपारण के राजेश राम के खिलाफ चार मामले अभिलेखित हैं.

बीजेपी के 5 उम्मीदवारों पर केस दर्ज

बीजेपी (BJP Candidates) की बात करें तो उसके कई उम्मीदवारों के खिलाफ केस दर्ज हैं. भाजपा ने विधान परिषद चुनाव में 12 उम्मीदवार उतारे हैं, जिनमें से पांच पर मुकदमे चल रहे हैं. बेगूसराय से रजनीश कुमार के खिलाफ छह, सारण से धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ चार, रोहतास से संतोष कुमार सिंह के खिलाफ एक, दरभंगा से सुनील चौधरी के खिलाफ तीन, सीवान से मनोज कुमार सिंह के खिलाफ 12 मामले दर्ज हैं.

चुनाव आयोग के सख्त फरमान का असर यह है कि सभी राजनीतिक दल अपने उम्मीदवारों के खिलाफ लंबित मामलों की जानकारी साझा कर रहे हैं. इससे लोग यह जान सकते हैं कि वोट देने वाले उम्मीदवार के खिलाफ कितने आपराधिक मामले दर्ज हैं.