RLSP ने फूंका CM का पुतला, JDU प्रवक्ता ने जमकर निकाली भड़ास

jdu-spokesperson-fiercely-exposes-rlsp-for-burning-cms-effigy

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार के बढ़ी संख्या में छात्र, मजदूर और आम नागरिक अभी भी अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं. जिसको लेकर राजनीतिक दल लगातार नीतीश सरकार को घेरने में लगे हुए हैं.

बिहार के बाहरी राज्यों में फंसे प्रवासी बिहारियों को वापस लाने के लिए चलाई जा रही ट्रेनों की संख्या बढ़ाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने पूरे बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश का पुतला फूंका .

जिसके बाद इस मामले को लेकर जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद निषाद ने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पर निशाना साधते हुए कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा ने विश्व कोरोना महामारी (COVID 19 pandemic) में अपनी राजनैतिक कार्यक्रम को कर अपनी और पार्टी रालोसपा की जग हंसाई करायी है.

निषाद ने कहा कि बिहार सहित पूरे देश में कोई भी दल सड़क पर उतर कर राजनैतिक विरोध का कार्यक्रम नहीं कर रही है. उपेंद्र कुशवाहा सत्ता जाने की बौखलाहट अभी तक नहीं भुला पाये  हैं. बिहार सरकार ने पूरे राज्य में क्वारंटाइन शिविरों की अच्छी व्यवस्था की है. उपेंद्र कुशवाहा के गृह जिला वैशाली के क्वारंटाइन शिविरों में भोजन और आवास के साथ सुबह में स्वस्थ व खुश रहने के लिए व्यायाम जिला प्रशासन की ओर से करवाया जाता है.

अरविंद निषाद ने आगे कहा कि लॉकडाउन में नई दिल्ली स्थित बिहार भवन के कंट्रोल रूम से अभी तक 1लाख 41 हजार 4 सौ प्रवासी मजदूरों के समस्याओं का सफल समाधान किया गया है.बिहार के विभिन्न जिलों में वज्रपात के कारण 12 व्यक्तियों की मौत होने पर राज्य सरकार की ओर से 44 लाख रुपए की अनुग्रह राशि प्रदान की गई हैं.

जदयू प्रवक्ता ने बिहार में किसानों को दिए गए लाभों को गिनाते हुए कहा कि बिहार सरकार ने कृषि इनपुट का किसानों को लाभ देते हुए 1.78 लाख किसानों को अब तक 61 करोड़ 37 लाख की मदद की गई है. संपूर्ण बिहार में 201 आपदा राहत केंद्र की स्थापना की गई है इन राहत केंद्रों में 62774 व्यक्ति लाभ उठा रहे हैं.