JDU का दावा कोटा से सभी बच्चे वापस, LJP बोली हजारों अब भी फंसे

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कोटा में फंसे हुए छात्रों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार तक राजस्थान के कोटा में फंसे कुल 13,473 बच्चे बिहार वापस आ चुके हैं. इन सभी बच्चों को विशेष ट्रेन के जरिए वापस लाया गया है. इस संबंध में संजय झा ने ट्वीट करते हुए कहा कि;

मुख्यमंत्री श्री @NitishKumar की पहल पर #कोटा से छात्रों को लाने का जो काम शुरू हुआ था, शुक्रवार को आखिरी स्पेशल ट्रेन के आने के साथ पूरा हुआ.  11 ट्रेनों से कुल 13,473 विद्यार्थी वापस आये, जिसके लिए बिहार सरकार ने  78.43 लाख रु एडवांस भुगतान किया.

हम अपने हरेक नागरिक के साथ है.

इस मामले को लेकर समस्तीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी सांसद प्रिंस राज ने संजय झा के इन दावों को गलत बताया है. संजय झा के ट्वीट का जवाब देते हुए ट्वीट करते हुए कहा कि;

आदरणीय मुख्यमंत्री श्री @NitishKumar जी, कोटा में अभी भी करीबन हजारों की संख्या में छात्र हैं जो बिहार वापस नहीं आये हैं जिसमे समस्तीपुर जिला के भी छात्र हैं.वहां के नोडल अधिकारी का कहना है कि वह बिहार सरकार के NOC का इंतज़ार कर रहे हैं.

बता दें लॉकडाउन के चलते राजस्थान के कोटा में फंसे बिहार के छात्रों का मुद्दा चर्चा का विषय रहा है. विपक्ष के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) समेत सभी राजनीतिक दल बाहरी राज्यों में फंसे हुए लोगों को लेकर सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं. यहाँ तक कि इस मुद्दे को लेकर आरएलएसपी अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने भी उपवास कर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला था. वहीँ बिहार सरकार के मंत्री संजय कुमार झा ने कोटा मामले पर छात्रों को भरोसा दिलाते हुए घर बापसी का वादा भी किया था. मगर अब सरकार के ही दो सहयोगी दलों के बीच में इस मुद्दे को लेकर मतभेद सामने आ गया .