नई बैंक शाखाएं, ATM केंद्र एवं ग्राहक सेवा केंद्र खोलने का निर्देश जारी

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज राजधानी पटना के अधिवेशन भवन में राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति की 72 वीं समीक्षा बैठक में भाग लिया. सुशील मोदी ने कोरोना संक्रमण काल में उत्कृष्ट कार्य के लिए बैंककर्मियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि आपने डॉक्टर, नर्स, पारामेडिकल स्टाफ समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों  की तरह जनता की सेवा की है.

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार सरकार 74 हजार स्ट्रीट वेंडर भाइयों को चिन्हित कर डेटाबेस  तैयार कर रही है. जिन्हें 10 हजार रूपये बैंको द्वारा ऋण प्रदान किया जाएगा.

आगे उन्होंने कहा कि  बिहार के 12 लाख कॉम्फेड से संबद्ध दुग्ध उत्पादक को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत KCC से जोड़ा जा रहा है. अब इन्हें ससमय ऋण भुगतान करने पर मात्र 4% ब्याज देना होगा.

सुशील मोदी ने आगे कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में वार्षिक साख योजना के तहत 1 लाख 5 हजार 400 करोड़ रूपये का ऋण वितरित किया गया है. वहीं वित्तीय वर्ष 2020-21 में 1.45 लाख करोड़ रूपये ऋण वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

उन्होंने कहा कि पिछले 2 महीनों में प्रधानमंत्री जनधन खाते में 14,300 करोड़ रूपये DBT के माध्यम से बिना किसी बिचौलिए के सीधे बिहार के गरीब भाइयों के खाते में पहुंचाया गया है.

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में 10.12 करोड़ सक्रिय बैंक खाते हैं. बैंको को बिहार के प्रत्येक व्यक्ति का बैंक खाता खोलने का निर्देश दिया गया है.  बिहार में अधिक से अधिक नई बैंक शाखाएं, ATM केंद्र के साथ साथ ग्राहक सेवा केंद्र खोलने का निर्देश जारी किया गया है  जिससे सभी नागरिकों को बैंकिंग सुविधाएं प्राप्त करने में आसानी हो.